नरसिंहपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में पंचायत चुनाव होने के बाद अब चुनावी और पुरानी रंजिशों ने झगड़े कराना शुरू कर दिया हैं। मतदान प्रक्रिया को लेकर भी शिकवा-शिकायतों का दौर नहीं थम रहा है। मंगलवार को ठेमी थाना के सुपला गांव में जहां दो पक्षों में लाठी-डंडों से हुई मारपीट में एक दर्जन ग्रामीण घायल हुए। वहीं जनपद चीचली की पंचायत चारगांव खुर्द से आए ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट आकर पुनर्मतदान कराने आवाज बुलंद की।

पंचायत चुनावों के दौरान गांव-कस्बों में छोटी-छोटी बातों को लेकर बने मतभेद अब चुनाव खत्म होने के बाद लड़ाई-झगड़ों में बदल रहे हैं। इसकी बानगी ठेमी थाना के ग्राम सुपला में यह सामने आई कि एक परिवार के दो पक्षों के बीच पहले मंगलवार की सुबह बहस शुरू हुई और फिर देखते-ही देखते दोनो पक्षों से लाठी-डंडो से सिर-फुटौव्वल शुरू हो गया।झगड़े के बाद दोनों पक्षो के घायलों को इलाज कराने जिला अस्पताल लाया गया। जहां घायलों के विस्तार से बयान नहीं हो सके हैं।अस्पताल पुलिस के अनुसार झगड़े में एक पक्ष से चार लोग एमएल मेहरा (62) पुत्र केपी मेहरा, गोपाल (50) पुत्र चेतराम मेहरा, टीकाराम (56) पुत्र चेतराम मेहरा, ज्योति (42) पत्नी टीकाराम मेहरा को चोट आई है। वहीं दूसरे पक्ष से शंकरलाल (59) पुत्र कोमल प्रसाद मेहरा, सुरेंद्र (46) पुत्र यादव प्रसाद मेहरा, देवेंद्र (32) पुत्र शंकरलाल मेहरा, प्रभा (55) पत्नी शंकरलाल मेहरा, खीरसागर (53) पुत्र यादव मेहरा, नरेंद्र (34) पुत्र शंकरलाल मेहरा, मोहित (24) पुत्र खीरसागर मेहरा, अंचल (24) पुत्र डालचंद मेहरा को चोट आई है। बताया जाता है कि गांव में हुए चुनाव के दौरान परिवार के बीच मतभेद हो गए थे। साथ ही जमीन संबंधी भी कोई मनमुटाव था।

कैसे गायब हो गए 27 मतपत्र, गांव में हो पुनर्मतदान

नरसिंहपुर।जिले की चीचली जनपद की ग्राम पंचायत चारगांव खुर्द से मंगलवार को 4 सरपंच प्रत्याशियों सहित कई ग्रामीण कलेक्ट्रेट पहुंचे। जिन्होंने कलेक्टर के नाम ज्ञापन देकर गांव में ही चुनाव प्रक्रिया पर सवाल उठाए। ग्रामीणों ने कहा कि सेक्टर क्रमांक 13 मतदान क्रमांक 168 माध्यमिक शाला भवन चारगांव खुर्द में बीती 25 जून को मतदान हुआ था। जिसके बाद सेक्टर अधिकारी द्वारा दस्तावेज क्रमांक 1 मतदान समाप्त होने के बाद कुल मतदान की जानकारी में कुल मतदान का हवाला 465 दिया गया है। दस्तावेज क्रमांक 2 में सरपंच प्रत्याशी को मिले मतों के आधार पर कुल संख्या 384 होती है।54 मतपत्र खारिज किए जाते है। इस तरह कुल 438 मत बताए। 438 मत में 27 को जोड़ा जाए तो 465 मत होते है। ग्रामीणों का सवाल है कि किस आधार पर दस्तावेज क्रमांक 1 में 465 कुल मतदान का आंकड़ा बताया जा रहा है। जबकि सरपंच के दस्तावेज क्रमांक 2 में कुल आंकड़ा 438बताया जा रहा है।प्रत्याशियों व ग्रामीणों का कहना है कि 27 मतपत्र कैंसे गायब हो गए।ज्ञापन देते हुए सरपंच प्रत्याशियों एवं ग्राम वासियों में अंजलि देवेंद्र राय, गुमता बाई, अमर सिंह यादव, कमला बाई, क्रांति विजय राकेसिया आदि ने मामले की जांच कर गांव में पुनर्मतदान कराने की मांग की है।ग्रामीणों का कहना है कि जब रात को मतगणना हो रही थी तो पूरे गांव की बिजली चालू थी लेकिन स्कूल में बिजली बंद थी। ग्रामीणों ने शिकायत में जिला पंचायत सदस्य पद के लिए डाले मतों के मामले भी 32 मतपत्र गायब होने की बात कही है।

................

सुपला में हुई मारपीट की यह घटना चुनावी के साथ पुराने जमीनी विवाद का नतीजा है। जिला अस्पताल से तहरीर प्राप्त होने के बाद मामले में आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

रामफल गौंड़, थाना प्रभारी ठेमी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close