नरसिंहपुर/करेली (नईदुनिया न्यूज)। जिले में करेली तहसील के ग्राम बारहाछोटा में वन विभाग के कर्मचारियों द्वारा हथनापुर नाले के पास से रेत खनन करते हुए रविवार की रात एक ट्रैक्टर-ट्राली देखी गई। जिसे लेने के लिए सोमवार को जब वन कर्मचारी गांव पहुंचे तो ट्रैक्टर मालिक व कुछ ग्रामीणों ने कर्मचारियों से मारपीट कर दी।घटना की शिकायत निवारी चौकी में दर्ज कराई गई है। वहीं कर्मचारियों ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन दिया है।

घटना में सामने आया है कि बीते रविवार की रात करीब 10 बजे वन कर्मचारी विवेक भट्ट व धर्मेंद्र मेहरा द्वारा बारहाछोटा वनक्षेत्र में भ्रमण करने के दौरान हथनापुर नाले में अवैध रेत खनन करते हुए एक ट्रैक्टर-ट्राली मिली थी। जिसकी सूचना कर्मचारियों ने वरिष्ठ अधिकारियों को दी। ट्रैक्टर-ट्राली को लेने जब सुबह वन कर्मचारी गांव पहुंचे तो यहां ट्रैक्टर मालिक ने स्वजनों, ग्रामीणों के साथ मिलकर कर्मचारियों से विवाद किया। कर्मचारियों की ओर से पुलिस को बताया गया है कि उनके साथ मारपीट कर मोबाइल तो़ड़ा गया है। निवारी चौकी प्रभारी अनिल भगत ने बताया कि वन कर्मचारियों व ट्रैक्टर मालिक की ओर से दिए गए आवेदनों को जांच में लिया है।

बिना पंजीयन के चल रहा था निजी अस्पताल, जांच में मिली ग़ड़बडी

नरसिंहपुर। सोमवार को जिला मुख्यालय पर नए बस स्टेंड के पीछे स्थित एक कालोनी में संचालित एक निजी अस्पताल की स्वास्थ्य विभाग के अमले ने जांच की। जिसमें सामने आया कि अब तक अस्पताल का पंजीयन नहीं हो सका था और यहां मरीज भर्ती कर उनका इलाज किया जा रहा है। जांच के दौरान ओपीडी चालू पाई गई।जांच टीम में शामिल डा. विनय ठाकुर, डा. राजकिशोर ने बताया कि चौकसे अस्पताल का पंजीयन नहीं है। यह बिना पंजीयन संचालित मिली है। जांच के बाद इसकी रिपोर्ट सीएमएचओ को दी जाएगी। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी। वहीं अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि पंजीयन के लिए आवेदन किया गया है और कार्रवाई प्रक्रिया में है।

वर्जन्

शिकायत मिली थी जिस पर जांच की गई है। जांच रिपोर्ट मिलते ही मामले में कार्रवाई की जाएगी।

डा. अजय जैन

सीएमएचओ नरसिंहपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close