नरसिंहपुर/गोटेगांव (नईदुनिया न्यूज)। तहसील मुख्यालय गोटेगांव में चौरसिया परिवार के बीच कई महिनों से चल रहे पारिवारिक संपत्ती विवाद के मामले में बीते मंगलवार की शाम हुए घटनाक्रम के बाद बुधवार को पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव ने मौके का मुआयना किया। दोनों पक्षों के दावों को सुना और उन्हें समझाइश दी। यह मामला मंगलवार की शाम उस वक्त फिर सुर्खियों में आ गया था जब न्यायालय के एक आदेश के पालन के लिए गोटेगांव पुलिस की टीम मकान का ताला खुलवाने पहुंची थी। जिसमें एक पक्ष की महिलाओं के विरोध के कारण पुलिस को वापिस लौटना पड़ा था।

गोटेगांव का यह पारिवारिक संपत्ती विवाद का मामला दोनों पक्षों की ओर से शिकायतें कर लगाए जा रहे गंभीर आरोप-प्रत्यारोपों के कारण सुर्खियों में है। जिसमें यह भी खास है कि एक पक्ष में शिकायतकर्ता डाली शा उर्फ शालू चौरसिया है जोकि दक्षिण भारतीय सिनेमा में अभिनेत्री हैं।जबकि दूसरे पक्ष में उसके ही स्वजन केके चौरसिया और उनका परिवार है।कई महिनों से दोनों पक्षों के बीच मकान और जमीन के मालिकाना हक को लेकर विवाद चल रहा है। जिसमें दोनो ओर से कई शिकायतें अधिकारियों से की जा चुकी हैं। बीते मंगलवार की शाम हुए हंगामे की वजह यह रही कि केके चौरसिया द्वारा उच्च न्यायालय में लगाई गई एक याचिका पर न्यायालय ने पुलिस अधीक्षक को कार्रवाई के लिए निर्देशित किया था। जब गोटेगांव पुलिस की टीम मकान पर पहुंची तो यहां फिर विवाद होने लगा। दूसरे पक्ष की महिलाओं ने इस दौरान काफी विरोध जताया।उक्त घटनाक्रम से मौके पर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ लगी रही। कुछ लोगों ने घटनाक्रम के वीडियो भी बनाए जो इंटरनेट मीडिया पर वायरल रहे।

वर्जन

हाइकोर्ट ने एसपी नरसिंहपुर को निभा चौरसिया बनाम केके चौरसिया के मामले की वस्तुस्थिति रिपोर्ट पेश करने कहा था। बुधवार को मैने मौके का जायजा लिया तो दोनों पक्षो के दावों की जानकारी ली गई है। इस मामले में दोनों पक्षों को समझाइश दी गई है। रिपोर्ट जल्द पेश कर दी जाएगी।

विपुल श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक नरसिंहपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close