फोटो...18 स्टेशन पर पड़ी बच्ची।

करेली। नईदुनिया न्यूज

रविवार रात करीब 12ः30 बजे रेल्वे स्टेशन पर मौजूद करेली निवासी विवेक खासकलम, शील दुबे एवं अरविंद चौरसिया को प्लेटफार्म नम्बर 1 पर गाडरवारा की तरफ बेंच के करीब जमीन पर एक नवजात बच्ची दिखाई दी। बच्ची को लाल रंग के कम्बल में लपेटकर रखा गया था। जिसकी सूचना तुरंत जीआरपी चौकी करेली में दी गई। जीआरपी पुलिस के साथ मौके पर मौजूद लोगों द्वारा बच्ची को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहां डॉक्टर मधुसूदन उपाध्याय ने बच्ची का स्वास्थ्य परीक्षण किया। रात के समय तेज ठंड व खुले आसमान के नीचे पड़े रहने के कारण बच्ची का शरीर ठंडा पड़ गया था बच्ची के शरीर का तापमान बढ़ाने के लिए डॉक्टर द्वारा बच्ची की सिकाई की गई बाद में दूध पिलाया गया। विकासखंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. विनय ठाकुर के अनुसार बच्ची एक्टिव है एवं उसका वजन 2.950 ग्राम है। बच्ची के ब्लड शुगर लेवल की जांच की गई जो कि सही था। डॉक्टर के अनुसार बच्ची की उम्र लगभग 15 दिन बताई जा रही है। करेली में शिशु रोग विशेषज्ञ न होने के कारण बच्ची को रात में ही जिला अस्पताल नरसिंहपुर भेज दिया गया। जो कि अभी नवजात गहन चिकित्सा इकाई एसएनसीयू में एडमिट है। रात में बच्ची स्वस्थ बताई जा रही थी। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि बच्ची को उसके परिजनों द्वारा ही स्टेशन के प्लेटफार्म पर लावारिस हालत में छोड़ा गया है।

धोखाधड़ी कर एटीएम से निकाल लिए रुपए

सायबर क्राइम कर रही जांच

करेली। नईदुनिया न्यूज

नगर में इन दिनों एटीएम कार्ड से धोखाधड़ी कर पैसे निकालने की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। एटीएम मशीनों के पास जालसाज गिरोह सक्रिय रहते हैं, जो मौका मिलते ही लोगों की रकम पर हाथ साफ कर देते हैं। ऐसा ही एक मामला गत दिवस सामने आया, जब एटीएम से पैसा निकालने गई एक युवती का एटीएम कार्ड बदलकर 7200 रुपए निकाल लिए। वहीं एक अन्य मामले में बीते रविवार को बिना कार्ड के ही खाते से 40 हजार रुपए निकाल लिए गए। दोनों मामले के पीड़ितों द्वारा पुलिस में शिकायत की गई है।

जानकारी के अनुसार नगर के राधावल्लभ वार्ड निवासी सोनिया जैन पिता ओमकार प्रसाद जैन 32 वर्ष एटीएम से पैसा निकालने के लिए बरमान चौराहा स्थित आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम पहुंची। जहां पहले से 4-5 लोग मौजूद थे। सोनिया अपनी बीमार मां का इलाज कराने के लिये भोपाल जा रही थी, इसलिए सोनिया पैसे निकालने पहुंची थी। ट्रेन का समय हो रहा था एवं एटीएम पर भीड़ थी, इसलिए सोनिया ने अपने आगे लगे व्यक्ति से जल्द पैसे निकालने के लिए आग्रह किया। तभी उसने सोनिया के हाथ से एटीएम झटक कर ले लिया एवं सोनिया के मना करने पर तुंरत ही वापस कर दिया एवं वह व्यक्ति वहां से चला गया। जब सोनिया पैसे निकालने लगी तो उनका कार्ड काम नहीं कर रहा था। पीछे खड़े व्यक्ति ने पुनः प्रयास करने के लिये कहा एवं पिन कोड डालते हुये देख लिया। पैसे न निकलने पर सोनिया बैंक में एंट्री कराने पहुंची, तो पता चला उनका एटीएम कार्ड बदलकर खाते दो बार में 7200 रुपए निकाल लिये गये हैं। जिस पर उन्होंने करेली थाने में शिकायत दर्ज कराई है। सोनिया के अनुसार उस वक्त एटीएम में गार्ड भी मौजूद नहीं था। इसलिए उनके साथ यह घटना घटित हुई। यदि गार्ड होता तो एक साथ एक से अधिक व्यक्तियों को एटीएम के अंदर प्रवेश नहीं करने देता। बाद में पीड़िता ने बैंक जाकर सीसीटीवी फुटेज देखी तो पता चला कि वहां 4-5 लोगों का झुंड था, जो धोखाधड़ी के काम में लगा हुआ था। इसी प्रकार दूसरे मामले में बिना एटीएम नंबर दिये उपभोक्ता के चालीस हजार रुपए निकलने की घटना हुई है। इस मामले में पीड़ित दीपक पटवा पिता मुन्ना लाल पटवा निवासी लक्ष्मीनारायण वार्ड करेली ने पुलिस अधीक्षक नरसिंहपुर व साइबर क्राइम को दी शिकायत में बताया कि 2 फरवरी को रात्रि के समय 11ः18 बजे बीस हजार रुपए एवं 11ः19 बजे पुनः बीस हजार रुपए कुल 40 हजार रुपए निकले गये हैं। मैसेज देखने के बाद टोल फ्री नंबर पर अपना एटीएम ब्लाक कराया। दीपक पटवा ने बताया कि बचत खाता का एटीएम अपने पास रखे हैं व एटीएम किसी को नहीं दिया। आधार कार्ड संबंधी कोई जानकारी किसी व्यक्ति को नहीं दी गई है।

.....

शिकायत क्राइम ब्रांच को भेजी गई है, अभी जांच चल रही है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अपराधियों की तलाश की जा रही है।

-एमएल चौधरी, नगर निरीक्षक करेली

ओवरलोड ऑटो पर नहीं हो रही कार्रवाई

कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

11फोटो6 करेली। ऑटो में भरी ओवरलोड सवारियां।

करेली।नईदुनिया न्यूज

सवारी गाड़ियों में ओवरलोडिंग से इन दिनों हर कोई परेशान है। चार से छह सवारियों की छमता में 18 से 20 सवारियों को इन ऑटो में भरा जाता है और फिर मनमाफिक गति से सवार गाड़ी को चलाकर मंजिल तक पहुंचाने की जल्दी रहती है। जिसके चलते कई बार भीषण हादसे भी हो जाते हैं। नगर की सड़कों पर आज यह नजारे आम बात है।

नगर से बरमान, आमगांव, करपगांव, शाहपुर भौरझिर, सिहोरा आदि स्थानों पर जाने वाली सवारी गाड़ी में ठूंस-ठूंस कर सवारियों को भरा जाता है। सवारियां भी मजबूरी में बस टैक्सियों, ऑटो में बैठ जाती है। हालांकि ड्राइवर कम सवारी बैठाने का वादा करते है। परंतु यह वादा सवारियां देखते ही वादाखिलाफी में बदल जाता है और जमकर सवारियां भरी जाती हैं। अब जल्द से जल्द से दूसरा चक्कर लगाने के लिए बस और ऑटो चालक में अधिक सवारी बैठाकर उसे हवाई जहाज की गति से चलाना चाहते है। चालक सवारियों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। ओवरलोडिंग की समस्या से इन दिनों नगर के लोग भी काफी परेशान है। क्या इन वाहनों पर यातायात पुलिस की नजर नहीं है।

सड़क किनारे भर जाता है गंदा पानी

करेली। नईदुनिया न्यूज

नगर के तहसील कार्यालय परिसर में बने प्रसाधन से निकलने वाला गंदा पानी सड़क किनारे एकत्रित हो रहा है, जिसके कारण यहां आने वाले लोगों और रहवासियों को बेजा परेशानी हो रही है। ज्ञात हो कि यह प्रसाधन नपा के अधीन है जो कि नगर को ओडीएफ घोषित करने के लिए यहां के रहवासियों को उपयोग के लिए निशुल्क उपलब्ध कराया गया था। नपा द्वारा यहां के रहवासियों को सुविधा तो दी, परंतु प्रसाधन और इससे निकलने वाले गंदे पानी की सफाई करना भूल गया। तहसील कार्यालय आने वाले लोगों का कहना है कि नपा द्वारा इस प्रसाधन से निकलने वाले पानी की समुचित व्यवस्था नहीं की है, इसलिए यह गंदा पानी यहीं भरा रहता है। लोगों का कहना है कि यदि नपा प्रसाधन से निकलने वाले पानी के लिए नाली का निर्माण करा दें तो प्रसाधन का गंदा पानी नाली से होते हुए बह जाएगा और आने वाले लोगों होने वाली परेशानी से निजात मिल जायेगी। यहां के रहवासियों का कहना है कि प्रसाधन से निकलने वाला गंदा पानी सड़क किनारे एकत्रित हो रहा है, जिससे बेजा बदूब आती है। साथ ही गंदे पानी के कारण संक्रामित बीमारी फैलाने वाले कीटाणु भी पनप रहे हैं। जिससे क्षेत्र में संक्रामित बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है। लोगों ने नपा से प्रसाधन से निकलने वाले गंदे पानी की समुचित व्यवस्था करने की मांग की है।