नरसिंहपुर। नरसिंहपुर पुलिस ने जबलपुर के दो कुख्यात इनामी अपराधियों को मुठभेड़ के दौरान ढेर कर दिया। सोमवार तड़के करीब 3-4 बजे एनएच-12 पर रम्पुरा व कुम्हरौड़ा गांव के बीच हुई मुठभेड़ में दोनों तरफ से फायरिंग हुई। पुलिस की गोलियों से दोनों अपराधी जख्मी हो गए, जिन्हें जिला अस्पताल लाया गया तो वह मृत पाए गए।

मुठभेड़ में एएसपी राजेश तिवारी, गोटेगांव टीआई प्रभात शुक्ला व प्रधान आरक्षक राजेश शर्मा को भी चोटें आई हैं। दोनों तरफ से 15-16 राउंड फायरिंग हुई है। मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए गए हैं। वहीं मृतकों के परिजन ने एनकाउंटर की घटना को फर्जी बताकर पुलिस अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

दोनों पर थे कई मामले दर्ज

विजय यादव (36) पिता बच्चू यादव निवासी गोरखपुर जबलपुर के खिलाफ 19 अपराध दर्ज हैं और वह 30 हजार का इनामी था। वहीं दूसरा मृतक समीर खान (25) पिता कल्लू पहलवान निवासी हनुमानताल जबलपुर के खिलाफ 19 अपराध दर्ज थे और उस पर 15 हजार का इनाम था। गैंगस्टर विजय यादव और समीर पर जबलपुर में कांग्रेस नेता राजू मिश्रा और बदमाश कुक्कू पंजाबी की हत्या का आरोप भी था और दोनों इस मामले में फरार चल रहे थे।

छावनी में तब्दील हुआ जिला अस्पताल

अपराधियों के शवों का पोस्टमार्टम जिला अस्पताल में कराया गया। इस दौरान पूरा अस्पताल परिसर पुलिस छावनी में तब्दील रहा। मरीजों की भी जांच-पड़ताल कर उन्हें प्रवेश दिया गया।

पुलिस की जुबानी, मुठभेड़ की कहानी

पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरुकरण सिंह व एएसपी राजेश तिवारी ने बताया कि रविवार की रात मुखबिर से सूचना मिली थी कि झिराघाटी थाना सुआतला क्षेत्र में कुछ बदमाश बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे हैं। एएसपी राजेश तिवारी के नेतृत्व में निरीक्षक प्रभात शुक्ला, प्रधान आरक्षक राजेश शर्मा समेत टीम ने घेराबंदी की। इस दौरान सूचना मिली कि बदमाश स्विफ्ट कार में जबलपुर की ओर भाग गए हैं।

टीम ने उनका पीछा किया तो राजमार्ग चौराहा से 8 किमी दूर कुम्हरौड़ा-रम्पुरा के बीच कार को ओवरटेक करने के दौरान बदमाशों ने फायर करना शुरू कर दिया। फायरिंग से एएसपी के बाएं कान को छूते हुए गोली निकली। निरीक्षक शुक्ला की दाहिनी भुजा व प्रधान आरक्षक राजेश की बाईं भुजा के पास से गोली निकली। पुलिस ने फायरिंग की तो दोनों जख्मी हो गए। जिला अस्पताल लाया गया तो वह मृत पाए गए।

एएसपी पर लगाए गंभीर आरोप

एनकाउंटर में मृत विजय यादव की भाभी पूर्ति यादव ने एनकाउंटर को फर्जी बताया। भाभी का आरोप है कि उसके पति रतन यादव को भी पुलिस ने स्मैक के झूठे मामले में जेल भेजा है, जिसकी आज तक जांच नहीं हुई है। उसका कहना है कि विजय ने कांग्रेस नेता राजू मिश्रा और कुक्कू पंजाबी की हत्या की थी। इसके बाद से कुक्कू की बहन के इशारे पर एएसपी राजेश तिवारी पूरे परिवार को प्रताड़ित कर रहे हैं।


पति को सरेंडर करने बुलाया था

एनकाउंटर में मृत समीर खान की पत्नी तारा बी का आरोप है कि पुलिस ने उसके पति को सरेंडर करने बुलाकर दो दिन तक गोटेगांव में रखा था। रविवार रात करीब 10 बजे उसने पति समीर से बात भी की थी, लेकिन इसके बाद से संपर्क नहीं हो सका। सोमवार सुबह करीब 11 बजे से उन्हें एनकाउंटर की जानकारी मिली। तारा बी ने भी एनकाउंटर को फर्जी बताकर एएसपी पर गंभीर आरोप लगाए।

इनका कहना है

बदमाश कार से उतरकर फायरिंग कर रहे थे और कार में सवार कुछ लोग भाग गए। मृतकों के पास 2 पिस्टल व कारतूस मिले हैं। मामले की मजिस्ट्रियल जांच चल रही है, इसलिए बहुत सी चीजें नहीं बताई जा सकतीं।

-राजेश तिवारी, एएसपी, नरसिंहपुर

आत्मरक्षा के लिए फायरिंग

आरोपितों ने पुलिस पर फायरिंग की, जिस पर आत्मरक्षा के लिए पुलिस की ओर से भी फायरिंग की गई। बाद में उन्हें जब अस्पताल लाया गया तो उन्हें मृत घोषित किया गया। मामले में मजिस्ट्रियल जांच हो रही है।

डॉ. गुरुशरण सिंह, एसपी नरसिंहपुर