नरसिंहपुर। नईदुनिया न्यूज

गोटेगांव में एसडीएम और तहसीलदार के विवाद व उससे मचे तूल के बाद प्रभारी कलेक्टर व एडीएम मनोज ठाकुर ने यह आदेश दिया है कि एसडीएम अपने अधीनस्थ अधिकारियों के बीच आपसी सामंजस्य स्थापित कर व तहसीलदार-वरिष्ठ अधिकारियों के बीच सामंजस्य स्थापित कर कार्य करें। जब तक उनके द्वारा प्रस्तुत आवेदन का अंतिम निराकरण नहीं हो जाता।

एसडीएम-तहसीलदार के बीच विवाद अभी थमा नहीं है, यद्यपि यह मामला वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचा है। प्रभारी कलेक्टर मनोज ठाकुर ने सोमवार को एक आदेश भी जारी किया, जिसमें कहा गया कि तहसीलदार गोटेगांव लालशाह जगेत द्वारा अनुविभागीय अधिकारी गोटेगांव जीसी डेहरिया के द्वारा मकान व फसल क्षति की राशि स्वीकृत करने में लगातार अड़ंगे लगाए जाने तथा एफआईआर दर्ज किए जाने की धमकी दिए जाने से व्यथित होकर अपने सेवा से त्यागपत्र 17 अक्टूबर 2019 से स्वीकृत किए जाने के लिए निवेदन किया है। इस सिलसिले में आवेदन के अंतिम निराकरण होने की स्थिति में यह आदेशित किया जाता है कि मप्र सिविल सेवा आचरण नियम 1965 में निहित प्रावधानों के तहत अनुविभागीय अधिकारी जीसी डेहरिया अपने अधीनस्थ अधिकारियों के साथ और तहसीलदार

लालशाह जगेत अपने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सामंजस्य स्थापित कर कार्य करें, जब तक उनके आवेदन पत्र का अंतिम निराकरण नहीं हो जाता।

Posted By: Nai Dunia News Network