नरसिंहपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्लास्टिक से दूरी के साथ कोरोना से सतर्कता भी समय की महती जरूरत है। ये आह्वान स्काउट दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित जिलास्तरीय कार्यक्रम में अतिथियों ने व्यक्ति किए।

शासकीय नेहरु उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में आयोजित में अतिथि वक्तों ने कहा कि जब हमें मनुष्य का जीवन प्राप्त हुआ है तो इसे सार्थक बनाने के लिए हमें सबसे पहले विचारवान बनना चाहिए। क्योंकि मनुष्य ही ऐसा प्राणी है जो विचार करता है। स्काउट एंड गाइड की गतिविधियां हमें अनुशासन सिखाती हैं। चीजों को समझने की दृष्टि विकसित करती हैं ताकि आने वाले समय में जीवन को सहज व सरल बना सकें। यह अत्यंत विडंबना है कि प्लास्टिक ने जहां हमारे जीवन को सुविधा संपन्न बनाकर प्रगति के नए आयाम स्थापित किए हैं ,वहीं उसके उपयोग पश्चात निबटान के प्रति हमारी अगंभीरता ने बड़ी समस्याएं पैदा कर दी हैं। यह वर्तमान की बड़ी चिंता भी है तथा विचारणीय भी। प्लास्टिक से दूरी के साथ कोरोना से भी अभी सतर्कता जरूरी है। कार्यक्रम में वक्ता के रूप में कार्यक्रम अध्यक्ष प्राचार्य डॉ एके चौबे, मुख्य अतिथि जिला संगठन एवं प्रशिक्षण आयुक्त जीपी विश्वकर्मा, विशिष्ट अतिथि सेवानिवृत्त बैंक मैनेजर आरपी वर्मा, ईको क्लब के जिला मास्टर ट्रेनर एवं साहित्यकार आनंद नेमा,शिक्षक आनंद प्रकाश श्रीवास्तव, स्काउटर मुकेश विश्वकर्मा प्रमुख रूप से शामिल थे। स्काउट दिवस की शुरुआत प्रातः सर्वधर्म प्रार्थना सभा से एवं अपरा- में अतिथियों के द्वारा 'विश्व विचार दिवस'के रूप में लार्ड बेडेन पावेल एवं लेडी बेडेन पावेल का स्मरण किया। कार्यक्रम की शुरुआत नीता डेहरिया के प्रेरणा गीत से हुई। नेहरु शाला की स्काउट प्रभारी सीमा दीक्षित के निर्देशन में छात्रों राजेश चौधरी, विकास चौधरी, जितेंद्र काछी, देव चौरसिया, यश अहिरवार,विनोद केवट,अनिकेत राजपूत, राज राजपूत आदि ने अतिथियों का स्कार्फ बांधकर स्वागत किया तथा देशभक्ति गीत गायन के साथ स्काउट के नियमों, प्रतिज्ञा, कर्तव्य एवं उद्देश्यों के बारे में बताया। ईको क्लव प्रभारी आनन्द प्रकाश श्रीवास्तव ने 'विश्व चिंतन दिवस' की थीम 'शांति के लिए एक साथ खड़े हो जाओ' एवं 'प्लास्टिक को ना कहो' पर प्रकाश डालते हुए इस मौसम में चिड़ियों के लिए घोंसले बनाने तथा उन्हें दाना-पानी की व्यवस्था करने की भी अपील की। इनके अलावा संगठन आयुक्त विश्वकर्मा ने बधाों को अलग से नियम,प्रतिज्ञा संगठन का आंदोलन,बेडेन पावेल के कार्यकाल के साथ स्काउट के प्रगति पूर्ण सोपानों के बारे में विस्तार से बताया। कार्यक्रम में शिक्षिकाओं मंजू पटेल, मंजरी शर्मा एवं क्षमता जैकब ने भी सहयोग प्रदान किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags