नरसिंहपुर/गोटेगांव। झौंतेश्वर चौकी के ग्राम पिपरिया में तीन दिन से अपनी पत्नी के साथ मारपीट कर उसे कमरे में बंधक बनाने वाले सिरफिरे पति को समझाने व महिला को आजाद कराने जब पुलिस पहुंची तो उसे भी करीब दो घंटे मश-त करना पड़ी। सिरफिरे पति ने पहले तो पुलिस से बात करने से इन्कार कर दिया और कहा कि पत्नी मर गई है। घर में पालकर रखे मंगल नाम के बंदर से डराया भी। जैसे-तैसे पुलिस ने उसे समझाया और महिला को आजाद कराकर उसे अपने साथ लेकर आई। महिला के शरीर में चोट के कई निशान हैं और उसकी जांच-इलाज कराने कार्रवाई की जा रही है। साथ ही बंधक बनाने वाले पति के खिलाफ भी मामला दर्ज हो रहा है।

झौंतेश्वर चौकी प्रभारी अंजली अग्निहोत्री ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि पिपरिया निवासी ओंकार तिवारी ने अपनी पत्नी रेखाबाई को बंधक बनाकर रखा है। जिसमें वरिष्ठ अधिकारियों से मार्गदर्शन लेकर मौके पर गए तो उसके पति ने कोई जानकारी नहीं दी और बात करने भी तैयार नहीं रहा। ओंकार की दशा ठीक न लगने पर उसे समझाने का प्रयास किया गया तो उसने अपने घर में पालकर रखे मंगल नाम के बंदर को बाहर निकाल लिया। उसने कमरे में एक नकली कट्टा, तलवार और कुह्लाड़ी भी मिली। बात करने के दौरान भी वह तलवार लिए रहा और यह भी कहता रहा कि उसकी पत्नी तो मर गई है, उसने अपने बेटे से भी यही कहलवाया। पुलिस जब उसे समझा रही थी इसी दौरान कमरे से महिला की आवाज सुनाई दी और फिर उसे कमरे से आजाद कराया गया। चौकी प्रभारी ने बताया कि महिला के शरीर पर चोट के निशान हैं जिससे लग रहा है कि पति द्वारा उसके साथ मारपीट की गई है। उसकी हालत भी कमजोर लग रही है जिससे उसकी जांच कराने कार्रवाई की जा रही है। पिपरिया गांव में पुलिस की जब यह कार्रवाई हुई उस दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीण आसपास जमा रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस