नरसिंहपुर (नईदुनिया न्यूज)। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बीते दिवस जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक हुई। जिसमें मोहर्रम, रक्षाबंधन, कजलियां एवं जन्माष्टमी त्योहार मनाने के संबंध में चर्चा हुई, प्रशासन ने लोगों के सुझाव सुने।सभी त्योहार जिले की गौरवशाली पंरपंरा के अनुरूप आपसी सदभाव एवं भाइचारे के साथ मनाए जाने जोर दिया गया।वहीं कलेक्टर ने बताया कि जिले में 2 लाख 35 हजार परिवारों में ध्वज लगाने का लक्ष्य तय किया गया है।

बैठक की अध्यक्षता कलेक्टर रोहित सिंह ने की।बैठक में विधायक जालम सिंह पटेल,पुलिस अधीक्षक विपुल श्रीवास्तव,अपर कलेक्टर दीपक कुमार वैद्य, एएसपी सुनील कुमार शिवहरे, महंत प्रीतमपुरी गोस्वामी, अश्विनी धौरेलिया, सुनील कोठारी, निशा सोनी, संध्या कोठारी, अमितेन्द्र नारोलिया, डा. संजीव चांदोरकर, बंटी सलूजा, शब्बीर उस्मानी, सरदार सिंह, विनय जैन, हुसैन पठान, किशन गुप्ता, गुड्डू मालगुजार, शाहनवाज,शिवकुमार राजपूत, आरिफ खान सहित शांति समिति के सदस्य मौजूद रहे।बैठक में मुहर्रम के दौरान ताजिये एवं सवारियों के निकलने के रूट के संबंध में जानकारी दी गई। इस दौरान सभी व्यवस्थाएं पुख्ता करने के निर्देश दिए।ताजिया विसर्जन के लिए कर्बला डेडवारा में सभी व्यवस्थाएं दुरूस्त कराने के निर्देश दिए गए। संबंधित स्थानों पर लाइट की व्यवस्था कराने कहा।सवारियों के मार्ग में सुचारू आवागमन और पुलिस की व्यवस्था करने कहा। इसी तरह रक्षाबंधन, कजलियां एवं जन्माष्टमी त्योहार पर सभी व्यवस्थाएं पहले से ही पूर्ण कर लेने के लिए निर्देशित किया गया। बैठक के पश्चात कलेक्टर ने सभी से हर घर तिरंगा अभियान को जन. जन का अभियान बनाने का आग्रह किया।

राशन दुकानों से ध्वज विक्रयः बताया कि जिले में करीब दो लाख 35 हजार परिवारों के घर पर 13 से 15 अगस्त तक झंडा लगाने का लक्ष्य रखा गया है। शहरी एवं ग्रामीण स्वसहायता समूहों, जेल विभाग, खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग आदि के माध्यम से जिले में ही झंडे तैयार किए जा रहे हैं। जिले के सभी नागरिकों से आग्रह है कि वे झंडा खरीदकर ही स्वाभिमान के साथ लगाए। इसके लिए जिले में राशन दुकानों सहित विभिन्न विक्रय केंद्र बनाए गए हैं।हमारा लक्ष्य है कि जिले के हर घर और हर हाथ तक तिरंगा झंडा ससम्मान पहुंचे। गरीब तबके, बीपीएल, प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को निश्शुल्क झंडा प्रदाय किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close