जसवंत पुरोहित, मनासा/सिंगोली/नीमच। National Girl Child Day 2020 जिले की दो बेटियों ने नीमच का नाम देश व प्रदेश में रोशन किया है। जिले के ग्राम सिंगोली की एक बेटी का सिविल जज व ग्राम हाड़ी पिपलिया की एक बेटी का नायब तहसीलदार के रुप में चयन हुआ है। प्रशासकीय सेवा के लिए चयनित जिले की दोनों बेटियों ने अपनी कठोर मेहनत व परिश्रम से यह मुकाम हासिल कि या है।

जिले की मनासा तहसील के ग्राम हाड़ी पिपलिया की टीना मालवीय ने जुलाई 2018 में पीएससी की परीक्षा दी थी। परीक्षा में उत्तीर्ण होने व नायब तहसीदार बनने पर ग्रामीणों ने उनका गांव पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया था। इसी प्रकार जिले के सिंगोली की कि रण मलिक ने दादा की सीख व पति के सहयोग से सिविल जज की परीक्षा उत्तीर्ण की। उन्होंने 12 जनवरी 2019 को आए सिविल जज परीक्षा के परिणामों में सफलता प्राप्त की थी। जिले के किसानों की दोनों बेटियों ने जिले का नाम गौरवान्वित कि या है। वर्तमान में जिले की दोनों बेटियां प्रशासकीय परीविक्षाधीन अधिकारी के रुप में कार्यरत है।

ग्राम हाड़ी पिपलिया की टीना मालवीय बनी नायब तहसीलदार

मनासा तहसील के ग्राम हाड़ी पिपलिया की बेटी टीना मालवीय का नायब तहसीलदार के रुप में चयन हुआ है। गांव के किसान मुकेश मालवीय की बेटी टीना ने इंदौर में रहकर पीएससी की तैयारी की। जुलाई 2018 में आयोजित परीक्षा में उन्हें सफलता प्राप्त हुई। परीक्षा में उत्तीर्ण होने व नायब तहसीलदार के रुप में चयनित होने पर टीना मालवीय का गांव में जोरदार स्वागत कि या गया था। टीना मालवीय ने बताया कि मेरा नायब तहसीलदार के पद पर चयन हुआ है। मेरी बड़ी बहन सोनू मालवीय मंदसौर में स्टॉफ नर्स है। छोटी बहन वीनू मालवीय ने इसी साल एमपीपीएससी की परीक्षा दी है। छोटा भाई पिंकेश मालवीय मनासा कॉलेज में अध्ययनरत है। पिंके श दो छोटे भाई अविनाश 12 वीं व हर्ष 11 वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं। मेरा डीएसपी चयन सूची में लड़कियों में तीसरे नंबर पर वेटिंग में नाम आया है। उम्मीद है मेरा डीएसपी में भी चयन हो सकता है। मेरा लक्ष्य डिप्टी कलेक्टर बनना है।

दादा की सीख व पति के सहयोग से बनी सिविल जज

सिंगोली की एक बेटी को दादा की सीख व पति के सहयोग ने सिविल जज बना दिया। सिंगोली के सेवानिवृत्त प्रधान आरक्षक नवाब सिंह मलिक की पौथी व किसान सतीश कुमार मलिक की बेटी किरण मलिक ने सिविल जज की परीक्षा उत्तीर्ण की है। कि रण मलिक को 12 जनवरी 2019 को आए सिविल जज परीक्षा के परिणाम व साक्षात्कार में सफलता प्राप्त हुई थी। किरण मलिक को दादा जी ने बचपन से ही प्रशासनिक व न्यायिक सेवा में जाने की सीख दी थी। उनकी 27 नवंबर 2015 को ग्राम मोरवन के महिपाल सिंह जाट के साथ विवाह हुआ था। विवाह के बाद पति व अन्य परिजनों ने उन्हें पढ़ाई में सहयोग कि या। किरण मलिक ने बताया कि मेरे पिता सतीश कुमार मलिक व ससुर अमृतराम कि सान है। मेरे पति वर्तमान में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया खरगोन में प्रबंधक के पद पर कार्यरत है। दादा की सीख व पति के सहयोग से मुझे बड़ी सफलता मिली है। मेरी प्रारंभिक शिक्षा सिंगोली व नीमच में हुई। इसके बाद सिविल जज की परीक्षा के लिए मैंने इंदौर में रुककर पढ़ाई की। मेरा एक भाई लोकें द्र यूपीएएसी की तैयारी कर रहा है। वहीं दूसरा भाई हायर सेकेंडरी में अध्ययनरत है।

Posted By: Hemant Upadhyay

fantasy cricket
fantasy cricket