-----मंदसौर के साथ पैकेज करे-----नीमच का जोड़ आएगा-

नीमच और मनासा में औसत बारिश का कोटा पूरा

-जावद में अब भी बारिश की दरकार

-जिले में 24 घंटे में एक इंच से अधिक बारिश

नीमच। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिले में 24 घंटे में करीब 1 इंच से अधिक बारिश हुई है। इससे कई मार्ग अवरुद्ध हो गए। नीमच और मनासा विकासखंड में बारिश का कोटा लगभग पूरा हो चुका है, जबकि जावद में अब भी बारिश की दरकार है। मंदसौर जिले के काका गाडगिल सागर बांध के 7 गेट खोले जाने से ग्राम पालसोड़ा में पानी घुसने की सूचना है। मार्ग अवरुद्ध होने और गांव में पानी घुसने की सूचना पर कलेक्टर और एसपी सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों से सीधा संवाद कि या।

मंगलवार सुबह करीब 8 से बुधवार सुबह करीब 8 बजे तक करीब एक इंच बारिश हुई है। जिले में अब तक करीब 31.04 इंच बारिश रिकॉर्ड हो चुकी है। जिले की औसत बारिश का आंकड़ा करीब 32.5 इंच है। जिले में इस मानसून में अब तक नीमच और मनासा विकासखंड में औसत बारिश का कोटा पूरा हो चुका है। नीमच में अब तक करीब 32.40 और मनासा में करीब 34.36 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई है, जबकि जावद में 26.37 इंच बारिश हुई है। इसके बाद भी बुधवार को दिनभर कभी धीमे तो कभी तेज बारिश का क्रम चलता रहा। देर शाम तक बारिश का दौर जारी था। लगातार हो रही बारिश से जिले के जलाशयों में पर्याप्त पानी आया है।

जाजूसागर और जीरन तालाब लबालब

शहर की जलापूर्ति का मुख्य स्रोत जाजूसागर बांध लगभग लबालब हो चुका है। बांध की क्षमता करीब 21 फीट है। यह बांध पूर्व में ही पूरी क्षमता से भर चुका था, लेकि न मंगलवार रात से इसके वेस्टवेयर से पानी बह निकला। चादर चलने पर लोगों ने खुशी का इजहार कि या। वहीं जीरन तालाब भी पूरी क्षमता से भर गया। इससे कि सानों और नागरिकों ने राहत की सांस ली है।

डाकघर के सामने पेड़ गिरा

शहर में दशहरा मैदान क्षेत्र में बुधवार को मुख्य डाकघर के समीप गुलमोहर का पेड़ धराशायी हो गया। इस कारण लोगों को आवागमन में दिक्कत का सामना करना पड़ा। नगर पालिका का अमला मौके पर पहुंचा और पेड़ को रास्ते से हटवाया है।

गाडगिल सागर बांध से छोड़ा पानी, पालसोड़ा में दिक्कत

पालसोड़ा। मंदसौर जिले के मल्हारगढ़ में काका गाडगिल सागर बांध से काफी मात्रा में पानी छोड़ा गया। करीब 7 गेट खोले जाने से जीरन तहसील के पालसोड़ा गांव में दिक्कत हो गई। रेतम नदी का पानी घुसने से पालसोड़ा और जाएड़ा के बीच रपट डूब गई। इससे आवागमन बाधित हो गया। बांध का पानी गांव के घर तक पहुंचने से ग्रामीण चिंतित हो गए। फसल को भी नुकसान की सूचना है। कलेक्टर और एसपी ने भी मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया। उनके साथ एसडीएम एसएल शाक्य, तहसीदार मुके श बामनिया, कृषि विभाग के उप संचालक एसएस चौहान सहित अन्य अधिकारी भी थे।

तालाब भरा, मार्ग बाधित

जीरन। नगर का तालाब पूरी तरह भर गया। जीरन तालाब के पूरी क्षमता से भरने के बाद नगरवासियों और कि सानों ने तालाब की चाबी पर पहुंचकर पूजा-अर्चना की और प्रसादी का वितरण कि या। जीरन तालाब और भड़क सनावदा नाले से पानी की भरपूर आवक होने से नगर और आसपास के कई मार्ग बाधित हो गए।

सिंगोली क्षेत्र में भी दिक्कत

सिंगोली। नगर और आसपास के क्षेत्रों में भी बारिश से दिक्कत आई है। बारिश के कारण क्षेत्र की रोजड़ी और ब्राह्मणी नदी उफान पर रही। इस कारण नीमच-सिंगोली, सिंगोली-पटियाल और पिपलीखेड़ा-बिलखंडा मार्ग बाधित हो गए। इसके चलते लोगों को आवागमन में दिक्कत का सामना करना पड़ा।

नीमच जिले के ये मार्ग बाधित

- नीमच-सिंगोली रोड ताल के समीप ब्राह्मणी नदी के उफान के कारण।

- पिपलीखेड़ा वाया झांतला, बिलखंडा मार्ग रोजड़ी नदी के कारण।

- सिंगोली-पटियाल मार्ग ब्राह्मणी नदी के कारण।

- जीरन-मल्हारगढ़ रोड रेतम नदी के कारण।

- पालसोड़ा-जाएड़ा मार्ग भी रेतम नदी के उफान के कारण।

-

नीमच जिले में बारिश

अब तक बारिश : 31.04 इंच

गत वर्ष अब तक बारिश : 23.33 इंच

औसत बारिश : 32.5 इंच

-

विकासखंड 2019 में 2018 में

नीमच 32.40 30.82

मनासा 34.36 16.41

जावद 26.37 22.75

-

पिछले 24 घंटे में बारिश

जिले में 24.8 मिमी

नीमच 16 मिमी

मनासा 33.4 मिमी

जावद 25 मिमी

(जानकारी- मौसम विज्ञान कें द्र और ऑनलाइन साइट्स के अनुसार। बारिश का आंकड़ा इंच में दर्शाया गया है।)

अमला अलर्ट

जिले में बारिश को देखते हुए प्रशासनिक अमला अलर्ट है। गांवों में पहुंचकर ग्रामीणों की समस्या जानने के प्रयास कि ए जा रहे हैं। नुकसान का आकलन कर राहत देने के प्रयास भी कि ए जा रहे हैं।

-अजयसिंह गंगवार, कलेक्टर, नीमच

सुरक्षा पर फोकस

जिले में नदी और बरसाती नाले उफान पर है। इसे देखते हुए जिले में पूल और पुलियाओं पर पुलिस बल तैनात कि या है। कि सानों और नागरिकों की समस्याओं का समाधान करने का प्रयास भी कि या जा रहा है।

-राके श कु मार सगर, एसपी, नीमच

फोटो-

14एनएमएच-32, नीमच के दशहरा मैदान में गुलमोहर का पेड़ गिर गया। -नईदुनिया

14एनएमएच-35, पालसोड़ा में रेतम नदी का पानी गांव में घुस आया।

14एनएमएच-37, सिंगोली क्षेत्र में ब्राह्मणी नदी को उफान के बीच पार करता ग्रामीण।