-----जरूरी-----

भादवा माता में कें द्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री गेहलोत ने कहा

- 20 लाख की लागत से धर्मशाला भवन का भूमिपूजन

नीमच। नईदुनिया प्रतिनिधि

मालवीय बलाई समाज ने हर क्षेत्र में आधारभूत प्रगति की है। समाज के लोग सामाजिक कु रीतियों और रूढ़ियों का त्याग कर अपने समाज को अग्रणी समाज में लाकर खड़ा करने का प्रयास करें। इसमें समाज के लोग अपनी मदद स्वयं कर समाज को तेज गति से विकास के पथ पर आगे बढ़ाएं।

यह बात कें द्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत ने कही। वे रविवार को ग्राम भादवा माता में मालवीय बलाई समाज धर्मशाला के भूमिपूजन अवसर के दौरान बोल रहे थे। उन्होंने कहा नागदा में समाजजनों ने स्वयं के व्यय से मंदिर और धर्मशाला का निर्माण कर एक बड़ी मिसाल पेश की है। भादवा माता में भी समाजजनों ने धर्मशाला निर्माण कर अनुकरणीय मिसाल की शुरुआत की है। भूमिपूजन कार्यक्रम के बाद सम्मान समारोह का आयोजन कि या गया। इसमें समाज की प्रतिभाओं व समाजसेवियों का कें द्रीय मंत्री ने सम्मान कि या। धर्मशाला निर्माण में सांसद सुधीर गुप्ता ने सांसद निधि से 5 लाख और विधायक दिलीपसिंह परिहार ने विधायक निधि से 2 लाख 50 हजार रुपए की राशि देने की घोषणा की। मनासा विधायक अनिरुद्ध माधव मारू ने कें द्रीय मंत्री से जिले में अतिवृष्टि होने पर कि सानों की फसलें खराब होने पर बीमा व मुआवजा दिलाने की मांग की।

इस अवसर पर घटिया विधायक रामलाल मालवीय, आलोट के पूर्व विधायक जितेंद्र गेहलोत, समाज के प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण मांगरिया, भाजपा जिलाध्यक्ष हेमंत हरित, मंदसौर जनपद अध्यक्ष शांतिलाल मालवीय, पूर्व जिला पंचायत सदस्य निहालचंद मालवीय, अशोक खींची, लालजीराम मालवीय, एसडीएम एसएल शाक्य, जिला पंचायत के अतिरिक्त सीईओ अरविंद डामोर, सीएसपी राके श मोहन शुक्ला, जनसंपर्क विभाग के सहायक संचालक जगदीश मालवीय, सेवानिवृत्त तहसीलदार धर्मराज प्रधान सहित विभिन्ना संगठनों के पदाधिकारी सहित समाजजन बड़ी संख्या में मौजूद थे।

फोटो-

18एनएमएच-38, भादवा माता में कें द्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत की मौजूदगी में सामाजिक कार्यक्रम हुआ। -नईदुनिया

---------------

डोल ग्यारस धूमधाम से मनाने का निर्णय

नीमच। मालवी जीनगर समाज की बैठक रविवार को रामपुरा के श्रीराम जानकी और चारभुजा नाथ मंदिर पर हुई। इसमें नीमच, मंदसौर, भवानी मंडी, गरोठ सहित अन्य क्षेत्रों के समाजजन शामिल हुए। बैठक में सर्वसम्मति से डोल ग्यारस का पर्व धूमधाम व भव्य रूप से मनाने का निर्णय लिया गया। 9 सितंबर को डोल ग्यारस पर कलश यात्रा व भव्य शोभायात्रा की तैयारियों को लेकर चर्चाएं की गई। इसके साथ ही आयोजन समिति के आजीवन सदस्यों के नाम भी जोड़े गए। बैठक में अंबालाल पंवार, रामेश्वर सिसोदिया, दौलतराम राठौर, फकीरचंद राठौर, कन्हैयालाल सोनगरा, गोपाल पंवार, नथमल सोनगरा, श्याम राठौर, प्यारेलाल सोनगरा, घासीलाल राठौर, मुके श चौहान, मांगीलाल राठौर, संतोष सांखला, दिलीप सोनगरा, जगदीश बायड़, कै लाशचंद सांखला, भेरुलाल चौहान, नरेंद्र चौहान, महेश सिसौदिया, कमल देवड़ा सहित अन्य मौजूद रहे।