Madhya Pradesh News: रीवा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। हत्या के केस में सोमवार को आजीवन कारावास सुनाने के बाद हत्यारे अनिल कुमार पिता रामगोपाल शिवहरे, निवासी नरैनी (उप्र) ने पन्ना के जिला एवं सत्र न्यायालय परिसर में ही जहर खा लिया। अगले दिन रीवा के संजय गांधी अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

18 जुलाई 2017 में पन्नाा जिले के धरमपुरा थानांतर्गत ग्राम भदैया में कल्लू द्विवेदी की हत्या हुई थी। पुलिस ने इस मामले में 40 वर्षीय कल्लीबाई पत्नी कल्लू दुबे निवासी ग्राम भदैया, अनिल शिवहरे, 45 वर्षीय अजहर उर्फ बबलू पुत्र इजहार फारुकी निवासी ग्राम कर्टरा, 50 वर्षीय रामपाल पिता राम प्रसाद केवट, निवासी ग्राम गुपरा, थाना कालिंजर उप्र व 52 वर्षीय शेर मोहम्मद पिता नूर मोहम्मद, निवासी ग्राम मसौनी, थाना कालिंजर उप्र को आरोपित बनाया था। एक अन्य आरोपित अभी तक फरार है।

जिला एवं सत्र न्यायालय पन्ना के प्रथम श्रेणी न्यायाधीश अनुराग द्विवेदी ने सोमवार शाम पांच लोगों को आजीवन कारावास सुनाई। सजा सुनाने के बाद अनिल शिवहरे ने न्यायालय परिसर में ही जहर खाकर खुदकुशी करने की कोशिश की।

मौके पर मौजूद स्वजन व पुलिसकर्मियों ने उसे जिला अस्पताल, पन्ना में भर्ती कराया। हालत गंभीर होने पर संजय गांधी अस्पताल, रीवा रेफर किया गया। वहां के सीएमओ डा. अतुल सिंह ने बताया कि श्याम शाह चिकित्सा महाविद्यालय रीवा के पांच डाक्टरों ने उसका पीएम किया है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags