अमानगंज/पन्‍ना, नईदुनिया प्रतिनिधि। पन्‍ना जिले के अमानगंज से एक तीन वर्षीय बच्ची अचानक गायब हो गई। जिसकी जानकारी स्‍वजन को देरशाम तक नहीं लगी, जिसके बाद पुलिस थाना पहुंचकर मामले की जानकारी पुलिस को दी। कुछ ही देर बाद बच्ची के मिलने की खबर उन्हें मिल जाती है। पड़ोस के ही नाबालिग पर उसे गायब करने का आरोप लगाया गया। जानकारी के अनुसार नाबालिग आरोपित बच्‍ची को नदी के आसपास कहीं छोड़ आया था। स्‍वजन ने पूरी जानकारी पुलिस को दी और समुचित कार्रवाई की मांग की गई।

कार्रवाई न होने से पुलिस थाना के सामने देखते ही देखते सैकड़ों लोग जमा होकर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। पुलिस थाना के ठीक सामने जमा भीड़ आरोपित बालक के घर पहुंचती है और उसे बाहर कर पुलिस के हवाले करने की मांग करती है।

कुछ ही देर में देखते देखते दोनों पक्षों की ओर से पथराव आरंभ हो गया। जिससे कई लोगों के सर पर भी चोट आनी बताई जाती हैं। घटना की सूचना पर जब तक जिले का पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचता है तब तक कई स्थानों पर तोड़फोड़ के साथ आगजनी की घटना घटित हो गई। घटना न बढ़े इसलिए पुलिस बल भारी संख्या में अमानगंज पहुंच गया था। आक्रोशित भीड़ को शांत करने उसे तितर-बितर करने हल्‍का बल प्रयोग किया गया।

अमानगंज पुलिस थाने में जिले का समूचा प्रशासन उपस्थित होकर मामले को शांत कराने की कोशिश में लग गया था। भीड़ के उपद्रव के दौरान गांधी चौक पर कई फल और सब्जी की दुकानें पूरी तरह से चकनाचूर हो गईं थीं। जानकारी के अनुसार इस दौरान पुलिस के जवान भी घायल हुए हैं। पुलिस ने अनेक उपद्रवियों पर मामला दर्ज कर लिया है।

Posted By: Ravindra Suhane

NaiDunia Local
NaiDunia Local