-कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित हुई सामान्य सभा की बैठक, गर्मी से बेहाल रहे अधिकारी

फोटोः14आरएसएन 05 : रायसेन। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित सामान्य सभा की बैठक में मौजूद अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि

रायसेन। नवदुनिया प्रतिनिधि

शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में दोपहर 12 बजे से सामान्य सभा की बैठक आयोजित होना थी, लेकि न बैठक करीब आधे घंटे लेट 12.30 बजे से शुरु हुई। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष अनीता कि रार, जिला पंचायत सीईओ अमनवीर सिंह बैस सहित जिला पंचायत के सदस्य एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में जिले के विकास कार्यो पर चर्चा की गई और जनप्रतिनिधियों ने संबंधित विभागों के अधिकारियों से जिले में हुए कार्यो की जानकारी ली। पहले 28 जनवरी को आयोजित हुई बैठक में जो बिंदु जनप्रतिनिधियों ने जांच के लिए रखे थे उन बिंदुओं पर पहले चर्चा की गई। इसके बाद आज की बैठक शुरु हुई। बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी विभाग, खेल विभाग, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना तथा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की गई। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में गर्मी के चलते अधिकारी बेहाल नजर आए, जो एजेंडे की काफी से हवा करते दिखाई दिए।

बैठक के दौरान जब कृषि विभाग से संबंधी विषय आया तो कृषि अधिकारी एनपी सुमन बैठक में नहीं थे, जिस पर जिला पंचायत के सदस्यों ने नाराजगी जताई और कहाकि वर्तमान कि सानों को खाद, बीज की आवश्यकता पड़ रही है, लेकि न कि सी अधिकारी बैठक में मौजूद नही हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहाकि कृषि अधिकारी बैठक में नहीं आते हैं। कि तना बीज खरीदा कहां से खरीदा इस बारे में हमें जानकारी चाहिए, लेकि न अधिकारी मौजूद ही नहीं हैं। इस पर जिला पंचायत सीईओ अमनवीर सिंह बैस ने कृषि अधिकारी एनपी सुमन को फोन लगाया, तो उनका कहना था कि तबीयत खराब है, जिस पर जिला पंचायत सीईओ ने कहाकि उनका स्वास्थ्य खराब है, लेकि न बैठक में करीब 2 बजे कृषि अधिकारी पहुंच गए, जिस जिला पंचायत के सदस्यों ने उनकी जमकर क्लास लगाई।

वहीं पीएचई अधिकारी ने जनप्रतिनिधियों को अवगत कराया कि भीषण गर्मी के चलते नलजल योजनाएं बंद हुई हैं, लेकि न हम प्रयास कर रहे हैं कि ग्रामीणों को पानी उपलब्ध हो सके । उन्होंने बताया कि जिले में 365 नलजल योजनाएं है, जिनमें से करीब 150 योजनाएं पानी की कमी के कारण बंद हो गई हैं। जहां पानी कम है उन नलजल योजनाओं को सिंगल फे स मोटर डालकर चालू कि या जा रहा है। वहीं जल निगम के अधिकारियों को भी जनप्रतिनिधियों की खरी खोटी बातें सुननी पड़ी। कृषि सभापति नेतराम कौरव ने कहाकि जल्द ही व्यवस्थाओं में सुधार लाएं। उन्होंने कहाकि जो पाइप लाइन डाली जा रही है उसमें जगह-जगह लीके ज हो रहे हैं, जिससे पानी व्यर्थ बह रहा है। योजना के पाइप चोरी जा रहे है, लेकि न आप लोगों का इस ओर कोई ध्यान ही नहीं है।

-40 प्रतिशत ड्रेस रेडीमेट

जिला पंचायत अध्यक्ष अनीता कि रार ने कहाकि आजीविका मिशन के माध्यम से ड्रेस सिलाई का जो काम समूहों को दिया है उसमें भारी भ्रष्टाचार हुआ है। उन्होंने दबा कि या है कि 40 प्रतिशत यूनिफार्म स्कू लों में रेडीमेट पहुंची हैं। हालांकि इस पर आजीविका मिशन के अधिकारी ने अपनी सफाई दी, लेकि न जनप्रतिनिधि ने कहा ऐसा हुआ है। उनका कहना था कि इसकी जांच होना चाहिए। वहीं उन्होंने कहाकि जब तक जांच नहीं होती तब तक समूहों के खातों में राशि न डाली जाए। इसके अलावा बैठक में प्रधानमंत्री सड़क, आरईएस विभाग, स्वास्थ्य विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारियों ने अपने-अपने विषय जनप्रतिनिधियों के सामने रखे।