रायसेन, नवदुनिया प्रतिनिधि। अंतरराष्‍ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मंगलवार को रायसेन जिले के सांची स्थित विश्‍व प्रसिद्ध बौद्ध स्तूप परिसर में केंद्र सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के राज्यमंत्री भानु प्रताप सिंह की उपस्थिति में विशेष योग सत्र का आयोजन किया गया। इस योग सत्र में शहर के दो हजार से अधिक लोगों ने सहभागिता करते हुए सामूहिक योग किया। यह विशेष योग सत्र सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग भारत सरकार के सौजन्य से आयोजित किया गया।

तय कार्यक्रम अनुसार प्रातः 6 बजे से स्तूप परिसर में सभी सहभागी उपस्थित हुए और केन्‍द्रीय मंत्री तथा अतिथियों का संबोधन हुआ। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी भी इस विशेष योग सत्र में शामिल हुए। प्रातः 6:30 बजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संदेश का प्रसारण हुआ। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संदेश प्रसारित किया गया। प्रातः 7 बजे से योगाभ्यास शुरू हुआ। कलेक्टर अरविंद कुमार दुबे, एसपी विकास कुमार शाहवाल सहित अनेक अधिकारियों व कर्मचारियों ने इसमें भाग लिया।

योग का व्यक्ति के शारीरिक एवं मानसिक जीवन पर प्रभाव

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री सिंह ने कहा कि योग भावना के भंवरों का प्रतिकार है। इसमें जीवन का हर पहलू शामिल है। योग का मतलब है संयोजन। यह सद्भाव बनाने के लिये दुनिया के साथ जुड़ाव को बढ़ावा देता है। यह शारीरिक स्वास्थ्य को बढ़ाता है और मानसिक शांति लाता है। इस प्रकार हमारी आंतरिक प्रकृति के साथ योग तालमेल बिठाने में मदद करता है। महर्षि पतंजलि ने योग को मन के संशोधनों के दमन के रूप में परिभाषित किया है। योग व्यक्ति के मन, ऊर्जा और भावनात्मक स्तरों पर काम करता है। इस प्रकार योग मनुष्य के शारीरिक और मानसिक कल्याण को बढ़ावा देता है। इसी वजह से दुनिया में 21 जून 2015 से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुरूआत हुई।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close