लीडः-

-जिले में 22470 लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई, 13210 लोग होम कोरेंटाईन

फोटोः07आरएसएन 11

रायसेन। होशंगाबाद रेंज के आईजी ने कि या पुलिस लाइन में बने कें द्र का निरीक्षण।

फोटोः07आरएसएन 12

रायसेन। शहर को कि या जा रहा सैनिटाइज।

फोटोः07आरएसएन 13

रायसेन। एंबुलेंस चालकों को पहनाई गई माला।

रायसेन (नवदुनिया प्रतिनिधि)। नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण से बचाव तथा नियंत्रण के लिए सम्पूर्ण देश में 25 मार्च से निरंतर 21 दिवस तक टोटल लॉकडाउन घोषित कि या गया है। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव तथा एसपी मोनिका शुक्ला ने जिले के गढ़ी, गैरतगंज, सिलवानी, उदयपुरा, देवरी, बरेली, बाड़ी, सहित अनेक स्थानों का भ्रमण कर लॉकडाउन का पालन सुनिश्चित कराने की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

कलेक्टर श्री भार्गव तथा सीईओ जिला पंचायत एवं नोडल अधिकारी अवि प्रसाद ने बताया कि रायसेन जिले में आज दिनांक तक नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण का कोई भी पाजिटिव मरीज नहीं मिला है। जिले में अभी तक 22470 लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई है तथा 13210 लोगों को होम कोरेंटाइन कि या गया है। सर्दी-खांसी के कु ल मरीजों की संख्या 6871 है। 42 लोगों को हॉस्पिटल आइसोलेशन में रखा गया है तथा 85 लोग संस्थागत कोरेंटाइन हैं।

अब तक 72 सैंपल भोपाल जांच के लिए भेजे

जिला अस्पताल रायसेन से 7 अप्रैल को 12 सैम्पल जांच हेतु एम्स अस्पताल भोपाल भेजे गए हैं। जिले से अभी तक कु ल 72 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए हैं, जिनमें 48 की रिपोर्ट निगेटिब है तथा 23 सेम्पल की रिपोर्ट प्रतीक्षित है। एक सेम्पल रिजेक्ट हो गया है। जिले के विभिन्न कोरेंटाइन सेंटर में 212 संदिग्ध व्यक्तियों को रखा गया है।

आठ लोगों पर की चालानी कार्रवाई

पुलिस अधीक्षक मोनिका शुक्ला ने बताया कि जिले में लॉकडाउन तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। पुलिस प्रशासन द्वारा एनाउंसमेंट के माध्यम से नागरिकों को घरों में ही रहने तथा कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक सावधानियां बरतने की समझाईश दी जा रही है। उन्होंने बताया कि जिले में धारा 188 के तहत दो प्रकरण दर्ज कि ए गए हैं तथा मोटर व्हीकल एक्ट के तहत आठ मामलों में 3250 रुपए की चालानी कार्यवाही की गई।

-------------------------

कलेक्टर-एसपी ने जिले की सीमाओं का कि या निरीक्षण

फोटोः07आरएसएन 14

उदयपुरा। कलेक्टर ने कि या निरीक्षण।

उदयपुरा। राष्ट्रीय विपदा नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण से बचाव तथा नियंत्रण के लिए सम्पूर्ण देश में 25 मार्च से निरंतर 21 दिवस तक टोटल लॉकडाउन घोषित कि या गया है। कलेक्टर उमाशंकर भार्गव तथा एसपी श्रीमती मोनिका शुक्ला ने जिले के गढ़ी, गैरतगंज, सिलवानी, उदयपुरा, देवरी, बरेली, बाड़ी, सहित अनेक स्थानों का भ्रमण कर लॉकडाउन का पालन सुनिश्चित कराने की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

उन्होंने निरीक्षण के दौरान एसडीएम, एसडीओपी से लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सामग्री की आपूर्ति के संबंध में जानकारी लेते हुए निर्देश दिए। उन्होंने आमजन की सुविधा के लिए दूध, सब्जी, कि रानों से निर्धारित अवधि में ही सामग्री विक्रय सुनिश्चित करवाते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के निर्देश दिए।

उन्होंने कोरेंटाइन सेंटर तथा आइसोलेशन सेंटर पर की गई व्यवस्थाओं के संबंध में चिकि त्सकों से जानकारी ली। कलेक्टर श्री भार्गव ने निर्देश दिए कि जिले में बाहर से आने वाले ऐसे लोग जिनके द्वारा आने की सूचना नहीं दी गई और जांच भी नहीं कराई गई है, उनके विरुद्ध कार्यवाही की जाए।

कलेक्टर श्री भार्गव तथा एसपी श्रीमती शुक्ला ने बैंकों में पेंशन राशि वितरण व्यवस्था का भी निरीक्षण कि या। उन्होंने कहा कि बैंक शाखा में एक बार में चार-पांच लोगों को ही प्रवेश दिया जाए तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराया जाए। शासकीय उचित मूल्य दुकानों का निरीक्षण करते हुए उन्होंने राशन वितरण व्यवस्था भी देखी। उन्होंने नियमानुसार निर्धारित मात्रा में हितग्राहियों को राशन का वितरण करने तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए कहा।

एसपी श्रीमती शुक्ला ने निर्देश दिए कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालो के विरुद्ध सख्ती से कार्‌रवाई की जाए। उन्होंने नरसिंहपुर तथा सागर जिले की सीमा पर बनाए गए चेक पोस्ट का निरीक्षण कि या तथा सुरक्षाकर्मियों को सख्ती के साथ लॉकडाउन का पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। एसपी श्रीमती शुक्ला ने बाहर से आने वाले लोगों को जिले की सीमा में प्रवेश नहीं देने के निर्देश देते हुए कहा कि जिन लोगों को अनुमतियां जारी की गई है के वल उन्हीं लोगों को तथा आवश्यक सामग्री का परिवहन करने वाले वाहनों को ही प्रवेश दिया जाए। उन्होंने जिले की सीमा में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति का स्वास्थ्य परीक्षण कराने के भी निर्देश दिए।

----------------------

इंदौर से आए दो संदिग्धों को घरों से उठाकर आइसोलेशन कें द्र में रखा

बेगमगंज। बाहर से आने वालों पर प्रशासन कड़ी नजर रख रहा है। आज इंदौर से आए पिता, पुत्र पर प्रशासन ने शिकंजा कसते हुए उन्हें आज तड़के उन्हें रैपिड रिस्पॉन्स टीम द्वारा घर से सोते हुए पकड़वाकर मेडिकल परीक्षण के बाद आइसोलेशन कें द्र छात्रावास भिजवा दिया गया। छात्रावास स्थित आइसोलेशन कें द्र पर रखे गए लोगों की संख्या 42 हो गई हैं। प्रतिदिन बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूरों की संख्या बढ़ती जा रही है।

कें द्र प्रभारी राजीव कदम ने बताया कि आज इंदौर से आने वाले बेगमगंज निवासी चेतराम कु शवाहा 45 वर्ष एवं उसके पुत्र अजय कु शवाहा को कें द्र में रखा गया है। के न्द्र एवं बाहर से आने वालों में सभी का मेडिकल चेकअप हो चुका है, जिसमें कोरोना संबंधी कोई भी सिम्टमस नहीं पाए गए हैं। कें द्र के सभी 42 लोगों को 14 दिन तक विशेष निगरानी में यही रखकर आइसोलेट कि या जा रहा है। तहसीलदार निकि ता तिवारी ने बताया कि अभी भी बाहर से लोग चले आ रहे हैं। उन पर कड़ी नजर रखी जा रही है। ऐसे लोगों को होम क्वारेंटाईन के लिए आइसोलेशन कें द्र में ही रखा जाएगा। डॉ. विजयलक्ष्मी नागवंशी ने बताया कि आज आए दोनों पिता-पुत्र की जांच उपरांत रिपोर्ट निगेटिव आई है।

-----------------------------------

गैरतगंज के तीन आइसोलेशन के न्द्रों में 22 आइसोलेट

गैरतगंज। तहसील अंतर्गत कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए तीन आइसोलेशन के न्द्रों पर अभी तक 22 लोगो को आइसोलेट कि या गया है। वहीं आरआरटी टीम द्वारा लगातार निगाह रखकर दो हजार लोगों को होम क्वारेंटाइन कराया गया है। प्रशासन द्वारा स्थिति पर लगातार निगाह रखकर बाहर से आने वाले लोगों की पड़ताल की जा रही है। वहीं अभी जांच के लिए भेजे गए 2 कोरोना संदिग्धों के सेम्पल की रिपोर्ट का इंतजार कि या जा रहा है। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते क्षेत्र में भी टोटल लॉक डाउन चल रहा है। तीन क्वारेंटाइन के न्द्रों बालक छात्रावास गैरतगंज, मातृश्री गार्डन गैरतगंज एवं मदरसा गढ़ी में 22 लोग आइसोलेशन में है। जिन पर प्रषासन की पूरी निगरानी है। इस संबंध में एसडीएम प्रियंका मिमरोट से बात कि ए जाने पर उनका कहना है कि मीडिया द्वारा संज्ञान में लाए गए सभी बिन्दुओं पर गंभीरता से गौर कर सुधार कि या जा रहा है।

----------------------------------

क्वारंटाइन सेंटर पहुंचकर कलेक्टर ने कि या निरीक्षण

बरेली। कोरोना बायरस संदिग्धों को बालक उत्क्रष्ट छात्रावास में बने क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है जहां से गत दिन एक युवक खिड़की तोडकर रात्रि समय फरार हो गया था जब से इस सेंटर की सुरक्षा व्यवस्था बढा दी है सुबह शाम क्वारंटाइन सेंटर को सेनेटाईजर कि या जा रहा है। मंगलवार को जिला कलेक्टर उमाशंकर भार्गव रेस्टहाउस पहुंचे जहां से थोडी देर बाद क्वारंटाइन सेंटर पहुंचे और उन्होने सेंटर का निरीक्षण कि या वहीं मौके पर मौजूद अधिकारियों और कर्मचारियों से चर्चा की। साथ ही कलेक्टर ने मौके पर प्रशासानिक से कहा कि चल रहे लॉक डाउन का पालन नगरवासियों से सख्ती से करवायें वहीं शहर की सीमाओं पर बने चैक पोस्टों पर विशेष ध्यान दें यहां से न कोई बाहर जा सके और न ही आ सके ।

वहीं नोबेल कोरोना बायरस के संक्रमण से बचाव के लिए नगर प्रशासन में बैठे अधिकारी पूरी सख्ती के साथ अपनी डियूटी के ा बखूबी निभा रहे हैं। वहीं नगर में आठ छात्रावासों को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है इन आठ छात्रावासों में से वर्तमान मे बालक उत्क्रष्ट छात्रावास में 6 जमातियों सहित 9 अन्य संदिग्ध अभी भी सेंटर में मौजूद हैं इनकी सुरक्षा व्यवस्था में सेंटर के आगे पीछे कर्मचारी मौजूद हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना