रायसेन। नवदुनिया प्रतिनिधि

सत्र न्यायाधीश रायसेन संजीव कुमार सरैया ने एक हत्या के आरोपित प्रहलाद जाटव पुत्र रामलाल जाटव निवासी वार्ड नंबर 14 राहुल नगर रायसेन को धारा 302 भादंवि के अपराध में आजीवन कारावास एवं 5000 रुपए के अर्थदंड से दंडित किया है।

शासन की ओर से लोक अभियोजक ओमप्रकाश सोनी ने पैरवी की। अभियोजन अनुसार फरियादी जसोदा बाई जाटव पत्नी सीताराम जाटव निवासी सेमरी कला ने थाना सुल्तानपुर ने अपने पति घायल सीताराम एवं लड़के हरिनारायण के साथ थाना सुल्तानपुर में आकर मौखिक रिपोर्ट की थी। घटना सेमरी कला गोरेलाल के बाड़े के पास 8 फरवरी 2012 को सुबह करीब 7ः30 बजे की है। रंजिश पर बालाराम, प्रहलाद, रामलाल, शांतिबाई, सुरेश एवं जगदीश जाटव इन सभी ने एक राय होकर महिला के पति सीताराम को जान से मारने की नीयत से घेर लिया और गालियां दीं और मारपीट शुरू कर दी। इस प्रकार आरोपितों ने सीताराम को प्राणघातक चोटें पहुंचाई तथा लड़के के साथ भी मारपीट की। घायल अवस्था में सीताराम जाटव को भोपाल अस्पताल रेफर किया गया था, जहां पर उनकी इलाज के दौरान मृत्यु हो गई थी। इस मामले में सुल्तानपुर थाने में आरोपितों के खिलाफ मामला पंजीबद्घ किया गया था। पुलिस ने विवेचना कर अभियोग पत्र न्यायालय में पेश किया। न्यायालय में अभियोजन द्वारा प्रस्तुत गवाहों की साक्ष्य के आधार पर सत्र न्यायाधीश संजीव कुमार सरैया ने निर्णय पारित कर आरोपित प्रहलाद जाटव को धारा 302 भारतीय दंड विधान के अपराध का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास एवं 5000 रुपए अर्थदंड से दंडित किया है। प्रकरण में सभी अभियुक्तों के विरुद्घ निराकरण हो चुका है।

Posted By: Nai Dunia News Network