लीडः-

-जिले के दिग्गज नेताओं ने हाईकमान से कहा- रायशुमारी को मिले तवज्जो

-शिवराज से मिले दो पूर्व मंत्री, एक पूर्व विधायक सहित मुदित शेजवार

-बिखरता नजर आ रहा भाजपा का अनुशासन

फोटोः04आरएसएन 03

रायसेन। दो पूर्व मंत्री सहित पूर्व विधायक और जिलाध्यक्ष पहुंचे भोपाल।

अंबुज माहेश्वरी

रायसेन। नवदुनिया न्यूज

जिला भाजपा का अध्यक्ष चुने जाने के पहले सोशल मीडिया पर कार्यकर्ता जमकर एक दूसरे को तंज कस रहे हैं। जिलाध्यक्ष पद के लिए फिलहाल जो लड़ाई नजर आ रही है उसमें भाजपा का अनुशासन बिखरता नजर आ रहा है। पिछले सप्ताह चुनाव पर्यवेक्षक द्वारा जिलाध्यक्ष के लिए दो पूर्व मंत्री सहित एक पूर्व विधायक व अन्य जिम्मेदार नेताओं से उनकी राय ली गई थी। इसके बाद एक नाम स्पष्ट होने की स्थिति में युवा कार्यकर्ताओं ने सोशल मीडिया पर पूर्व जिला युवा मोर्चा अध्यक्ष को जिलाध्यक्ष बनाने की मुहिम छेड़ दी। इसका असर यह हुआ कि रायशुमारी में बिना चर्चा के भी यह नाम प्रदेश पर जगह बना गया। देखते ही देखते तीन दिनों में युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष राके श शर्मा और जिला पंचायत में भोजपुर विधायक के प्रतिनिधि डॉ. जयप्रकाश कि रार के बीच जिलाध्यक्ष के लिए कड़ा मुकाबला नजर आने लगा है। सूत्र बताते हैं कि डॉ. कि रार के नाम पर जिले के बड़े नेताओं में सहमति बनने और रायशुमारी में सर्वाधिक लोगों द्वारा नाम देने के कारण उन्हें यह जिम्मेदारी देने की बात कर रहे हैं तो दूसरी तरफ प्रदेश के एक बड़े ब्राम्हण नेता सहित संघ के कु छ लोगों की जिलाध्यक्ष के लिए पसंद राके श शर्मा के नाम की सामने आने के बाद उनके समर्थकों ने सोशल मीडिया पर अध्यक्ष बनाने की मांग कर डाली है। वहीं मंगलवार को डॉ. कि रार द्वारा प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत को लिखे एक पत्र के बाद जिला भाजपा की सियासत गर्मा गई।

बुधवार को सुबह पूर्व मंत्री रामपाल सिंह राजपूत, पूर्व मंत्री सुरेंद्र पटवा सहित पूर्व विधायक रामकि शन पटेल, जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र चौहान, मुदित शेजवार ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित अन्य पार्टी पदाधिकारियों से मुलाकात की है। इस मुलाकात में क्या बातचीत हुई है और जिलाध्यक्ष के लिए आखिरकार कि सका नाम तय हुआ है यह बात सामने नहीं आई है। हालांकि प्रबल सूत्रों का कहना है कि भाजपा अपनी चुनावी प्रक्रिया से परे जाकर कोई निर्णय करके अपनी फजीहत नहीं करवाएगी। वहीं प्रदेश भाजपा कार्यालय से जुड़े अन्य सूत्र बताते हैं कि संगठन के कु छ नेताओं सहित एक बड़े ब्राम्हण नेता ने भी अपनी पसंद को इस बार यह पद हर विरोध का सामना करके देने का मन बना लिया है।

-------------

- सोशल मीडिया पर दो फाड़ नजर आ रही भाजपा

जनसंघ के जमाने से रायसेन जिला भाजपा के गढ़ के रुप में ख्यात है। इस बार जिलाध्यक्ष पद के लिए युवा कार्यकर्ताओं में जो जोश दिखाई दे रहा है यह सोशल मीडिया पर भाजपा की जमकर कि रकि री होने के कारण भी बन रहा है। पहले राके श शर्मा के पक्ष में युवा कार्यकर्ताओं की चलाई गई मुहिम और फिर रायशुमारी को तवज्जो न मिलने जैसी बात पर नजर आ रहे कार्यकर्ता भाजपा के दो फाड़ में नजर आ रहे हैं।

-------

- भाजपाई ही भाजपाई को कांग्रेसी बता रहे

इस चुनाव में सबसे रोचक बात यह देखने को मिल रही है कि कोई कि सी भाजपाई के कांग्रेसी होने की बात कर रहा है तो कोई रिश्तेदारों के कांग्रेसी कनेक्शन जोड़ने में जुटा है। कहीं विधानसभा चुनाव में भाजपा में ही बत्ती देने की बात ही रही है तो एक दूसरे के पोलिंग पहले नपा और फिर विधानसभा चुनाव में हारने की बात सोशल मीडिया पर करते नजर आ रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Independence Day
Independence Day