बरेली। बालक उत्क्रष्ट छात्रावास में कोरोना वायरस कोविड 19 के तहत लगभग 25 संदिग्धों को रखा गया है। इनसे पहले यह संदिग्ध रखे गए थे जिनमें से कुछ घर पहुंचा दिए गए हैं। वर्तमान में भर्ती संदिग्धों के साथ स्वस्थ्य विभाग के एक कर्मचारी द्वारा अभद्र व्यवहार करने का मामला प्रकाश में आया है। क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए संदिग्धों ने आरोप लगाया कि दोपहर समय एक युवक की अंगुली कोई कार्य करते हुए कट गई थी, इसके इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र से रामनारायण को भेजा गया, लेकिन रामनारायण ने सेंटर में रखे गए युवकों के साथ अभद्र व्यवहार किया। इस मामले ने इतना तूल पकड़ा कि संदिग्ध युवकों ने सेंटर के अंदर उत्पात मचाना प्रारंभ कर दिया। तब प्रशासन द्वारा हस्तक्षेप कर उन्हें समझाया। इस संबंध में बीएमओ डॉ. गिरीश वर्मा का कहना है कि क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए संदिग्धों से किसके द्वारा अभद्र व्यवहार किया गया। इस बात की जानकारी मेरे पास नहीं है और न ही में इस संबंध में कुछ कहना चाहता हूं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags