बेगमगंज। नवदुनिया न्यूज

ग्रामीण क्षेत्र में यात्री वाहनों की संख्या नाम मात्र को होने के कारण लोग जीपों आदि से सफर करने के लिए मजबूर हैं। चार पहिया वाहनों में ओवरलोडिंग को लेकर प्रशासन अभी भी गंभीर नहीं है। शहर सहित ग्रामीण अंचल में दौड़ रही जीपों में ओवरलोडिंग जमकर हो रही है। जबकि सब कुछ जानते हुए भी प्रशासन इन सबसे अंजान बन रहा है। मंगलवार को अधिकतर एवं अन्य दिनों में भी बराबर बाजार में ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले लोग ओवरलोड वाहनों में ही सवार होकर आते हैं और पुराना बस स्टैंड नया बस स्टैंड दशहरा मैदान पर ऐसे वाहन आते जाते हुए और खड़े होते हुए सबकी नजर में है प्रशासन भी इससे अछूता नहीं है उसके बावजूद भी इन पर अंकुश नहीं लगाया जा रहा है। कई इलाकों एवं ग्रामीण इलाकों में हादसों के बाद भी बस व जीपों आदि में में क्षमता से अधिक सवारी भरी देखी जा सकती हैं। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि शहरों में चलने वाले ओवरलोड चार पहिया वाहनों को लेकर प्रशासन कोई सख्त कदम क्यों नहीं उठा रहा है परिवहन विभाग तो कभी इस ओर देखता भी नहीं है ग्रामीण क्षेत्रों से शहर आने वाले रास्तों पर जीपें ग्रामीणों से खचाखच भरी नजर आते हैं इसको चेक करने के लिए न तो आरटीओ विभाग ने कोई कदम उठाया और न ही पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई होती नजर आती है। दूसरी ओर यात्रियों का कहना है कि जीप चालक क्षमता से अधिक सवारियां बिठाते हैं । गांव तक बसें नहीं आ पाती इसलिए मजबूरी में इसमें सफर करना पड़ता है। वाहनों में पैर रखने की भी जगह नहीं रहती। ग्रामीण मार्गों पर सबसे ज्यादा ओवरलोडिंग वाहन प्रतिदिन आवागमन करते हुए दौड़ते नजर आते हैं।

ओवरलोड यात्री वाहन बेगमगंज से कीरतपुर मार्ग, सुल्तानगंज, हैदरगढ़, मरखेड़ा टप्पा, परड़िया, राहतगढ़ व अन्य स्थानों के लिए प्रतिदिन क्षमता से अधिक सवारियों को बैठाकर कहीं पायदान पर लटका पर ले जाते हुए दिखाई देते हैं। यात्रियों के अलावा इन वाहनों पर सामान भी रखा जाता है। कई बार यह हादसे का शिकार हो चुके हैं लेकिन परिवहन विभाग कभी भी इन पर अंकुश लगाने के लिए कार्यवाही करने के लिए मैदान में दिखाई नहीं देता जिससे इनके हौसले बुलंद हैं। ऐसा प्रतीत होता है कि प्रशासन किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रहा है प्रशासन की लापरवाही कभी भी लोगों की जान पर भारी पड़ सकती है। इस और परिवहन विभाग को ध्यान देने की आवश्यकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local