सुल्तानपुर। नवदुनिया न्यूज

मोबाइल लैब ने शुक्रवार को नगर के बस स्टैंड स्थित विभिन्ना खाद्य प्रतिष्ठानों से 45 नमूने लेकर उनकी जांच की है। नमूने के सही न पाए जाने पर सुधार सूचना पत्र जारी किए हैं। मां नर्मदा रेस्टोरेंट पर तेल की मौके पर जांच की गई। जिसमें पीपीएम 25 से अधिक होने पर फिंकवाया गया। सभी समोसा- कचोरी विक्रेताओं को जानकारी दी गई कि तलने वाले तेल को सिर्फ तीन बार ही इस्तेमाल करे। इससे अधिक बार तलने पर तेल में ट्रांसफैट की मात्रा बढ़ जाती है जो शरीर में जमा होकर मोटापा, हृदय रोग को जन्म देता है। निरीक्षण के समय सुपर टी स्टाल पर अखाद्य रंग जब्त किया गया। जिसे मौके पर ही फिंकवाया गया व विक्रेता को बताया कि अखाद्य कोलतार कपड़ों के रंगों का मिठाइयों में सेवन करने से कैंसर तक हो सकता है। क्या आप अपने ग्राहकों को मिठाई के साथ कैंसर देना चाहते हैं तो उनके द्वारा अज्ञानता वश उपयोग किए जाने व आगे से ऐसा न करने का कहा गया है। साथ ही मोबाइल फ़ूड टेस्टिंग लैब के स्क्रीन पर फोर्टिफाइड फ़ूड के सेवन संबंधी जानकारी प्रदान की गईएव यदी किसी भी आम जन को इस्तेमाल में की जा रही खाद्य सामग्री में मिलावट की असंका है तो उनके द्वारा भी 10 रुपये के सुल्क पर जाँच करवाई जा सकती हैं। साथ ही जनजागरूकता हेतु कुछ सामान्य परीक्षण कर जो घर पर भी किये जा सकते है उनकी जानकारी प्रदान की गई। मिष्ठान विक्रेताओं द्वारा मिठाइयों पर निर्माण व अवसान की तिथि अंकित न करने की दशा में समझिश दी गयी व इस हेतु सुधार सूचना पत्र भी जारी किए गए। साथ ही विक्रताओं ओर ग्राहकों को मास्क लगाने व कोविड नियमों का पालन करने के लिए भी कहा गया। कार्रवाई में वरिष्ठ खाद्य सुरक्षा अधिकारी सुषमा पथरोल, खाद्य सुरक्षा अधिकारी कल्पना अर्सिया, केमिस्ट मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local