बरेली। नवदुनिया प्रतिनिधि

नगर में 15 वार्डों के पार्षद पदों के लिए भाजपा व कांग्रेस सहित निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में हैं। नगर में नगरीय चुनाव की सरगर्मियां तेज हो गई हैं। साथ ही कांग्रेस, भाजपा एवं निर्दलीय प्रत्याशियों के चुनाव कार्यालय का उद्घाटन भी प्रारंभ हो गया है। इस दौरान प्रदेश सरकार के मंत्री डा. प्रभुराम चौधरी, सांसद राव उदय प्रताप सिंह, सिलवानी विधायक रामपाल सिंह राजपूत, पूर्व विधायक रामकिशन पटेल सहित दिग्गज भाजपा नेता नगर के वार्ड क्रमांक चार में भाजपा प्रत्याशी पूरन सिंह धाकड़ के कार्यालय का उद्घाटन करने पहुंचे। केंद्र एवं प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए नगर में भी भाजपा की नगर सरकार बनाने को लेकर आम जनता से सहयोग की अपील की। वहीं दूसरी ओर वार्ड क्रमांक 9 में कांग्रेस प्रत्याशी अरविंद मालवीय, वार्ड क्रमांक चार के कांग्रेस प्रत्याशी भीकम राय के कार्यालय का उद्घाटन विधायक देवेंद्र पटेल ने किया है।

चुनावी जंग तेज हुई

इस दौरान देखा जा रहा है कि नेताओं के द्वारा अपने प्रत्याशी को जीत दिलाने की भरसक प्रयास किए जा रहे हैं तो वही प्रतिद्वंदी की छवि धूमिल करने के लिए कई बे बुनियादी आरोप भी लगाए जा रहे हैं। 6 जुलाई को होने वाले मतदान को लेकर पार्टी सहित निर्दलीय प्रत्याशियों के द्वारा अपने अपने हिसाब से अपना अपना गणित बनाए हुए हैं सभी प्रत्याशी अभी से वार्डों में भ्रमण करने लगे हैं। बता दें कि आने वाले दिनों में नगर के 15 ही वार्डों आने वाले दिनों में और भी चुनाव कार्यालय खोले जाएंगे। यूं कहें कि जैसे-जैसे निकाय चुनाव की तिथि नजदीक आती जा रही है। वैसे.वैसे पार्षद प्रत्याशियों में कार्यालय खोलने की होड़ बढ़ती जा रही है। कुछ स्थानों पर प्रत्याशियों को व्यवस्थित रूप से जगह नहीं मिलने के कारण मोहल्लों की गलियों में पार्षद प्रत्याशियों के द्वारा अपने कार्यालय बना रहे हैं।

नगरीय चुनाव में बागियों भितरघात से भयभीत हैं दोनों दलों के प्रत्याशी

उदयपुरा। नवदुनिया प्रतिनिधि

नगर में भाजपा व कांग्रेस दोनों दलों के प्रत्याशी बागियों की भितरघात से भयभीत हैं। भारतीय जनता पार्टी में असंतुलित टिकट बांटने से भितरघात की आशंका जताई जा रही। वार्ड क्रमांक एक से भाजपा ने राधा राकेश दीक्षित को मैदान में उतारा है। वही कांग्रेस ने वहां से हेमंत रघुवंशी को टिकट दिया है। यहां से भाजपा के कार्यकर्ता कैलाश राजपूत व कुंवरबाई राजपूत निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में हैं। वार्ड क्रमांक दो में आशीष धाकड़ को भाजपा ने प्रत्याशी बनाया है। इसी प्रकार वार्ड नंबर तीन में सीमा बृजेंद्र राजपूत और कांग्रेस से अभिषेक धाकड़ मैदान में हैं। जबकि भाजपा कार्यकर्ता विश्वनाथ राजपूत निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं। वार्ड क्रमांक चार में वर्षा लोधी को कांग्रेस ने प्रत्याशी बनाया है वही भाजपा ने मुन्नाा बाबू को टिकट दिया है। भाजपा से बागी होकर निर्दलीय प्रत्याशी मैदान जो समीकरण बिगाड़ सकते है। इसी प्रकार वार्ड नंबर पांच में भाजपा ने रेखा लक्ष्‌मण धाकड़ को प्रत्याशी बनाया है। कांग्रेसी ने सविता वर्मा को टिकट दिया है। बाहरी प्रत्याशी होने का फायदा भाजपा को मिल सकता है। इसी प्रकार वार्ड नंबर 7 से शेख बशीर कांग्रेस से व शंभूलाल साहू भाजपा के प्रत्याशी हैं। यहां अशोक राय निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में भाजपा को अड़चन पैदा कर सकते हैं।वार्ड नंबर 11 में रानू वर्मा और सुनील राय कांग्रेस प्रत्याशी का मुकाबला है। विनोद धाकड़ भाजपा से बागी होकर चुनाव लड़ रहे हैं। विनोद धाकड़ से कांग्रेस को भी नुकसान होने की संभावना है। वार्ड नंबर 12 से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता स्व. दयाराम रघु कक्का की पुत्रवधू चुनाव मैदान में है। वही विनीता रघुवंशी भाजपा उम्मीदवार हैं। कांग्रेस से बागी होकर नगर के वरिष्ठ वकील श्याम चांडक जीत का गणित बिगाड़ सकते हैं। वार्ड नंबर 13 में कांग्रेस ने लता शर्मा को टिकट दिया है व भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता ब्रिज गोपाल लोया की बेटी वैशाली लोया भाजपा प्रत्याशी हैं। ब्राह्मण बाहुल्य वार्ड होने के कारण व कांग्रेस से बागी होकर नर्मदा कुशवाहा भी दमखम दिखा रहे हैं। इससे भाजपा को नुकसान हो सकता है। वार्ड नंबर 14 में भाजपा से पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष केशव पटेल की धर्मपत्नी सीमा पटेल चुनाव मैदान में हैं। कांग्रेसी ने विधायक देवेंद्र पटेल के खास कार्यकर्ता श्रीराम रघु की पत्नी लता रघुवंशी को मैदान में उतारा है। वार्ड नंबर 15 में भाजपा के महामंत्री से उमेश धाकड़ की पत्नी संगीता मैदान में है व कांग्रेस से गंगाबाई कहार मैदान में हैं। यहां बहुत बड़े भितरघात होने की संभावना है। जिसका फायदा कांग्रेस प्रत्याशी को मिल सकता है

भाजपा व कांग्रेस के प्रत्याशियों का प्रचार चरम पर, बागी भी दमखम दिखा रहे

सुल्तानपुर। नवदुनिया न्यूज

भाजपा व कांग्रेस ने नगर के 15 वार्डों से ज्यादातर युवा प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है। दोनों ही दलों के प्रत्याशियों का चुनाव प्रचार चरम पर है। वहीं टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले बागी भी जीत का समीकरण बिगाड़ने के लिए दमखम दिखा रहा हैं। आम आदमी पार्टी ने नगर के दो वार्ड से प्रत्याशी चुनाव में उतारे हैं। जिसमें वार्ड क्रमांक 4 से साधना अजेद्र श्रीवास्तव एवं वार्ड क्रमांक 9 से राजकुमारी सुनील प्रमुख हैं। शेष 13 वार्डों में निर्दलीय उम्मीदवार सामने हैं। जिसमें वार्ड क्रमांक 2 से भाजपा के दो बार के नगर पालिका अध्यक्ष कन्हैयालाल गौर निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में अपनी ताल ठोक रहे हैं। वहीं वार्ड क्रमांक 3 से दो बार की कांग्रेस नगर परिषद अध्यक्ष अरुणा राजपाल पार्टी उम्मीदवारों के सामने हैं। इसी तरह नगर के अन्य वार्डों में पार्टी उम्मीदवारों के सामने कही पूर्व पार्षद तो कहीं पार्टी उम्मीदवारों से नाराज होकर चुनावी मैदान में पार्टी उम्मीदवारों को परेशानी में डाल रहे हैं। नगर पुरोहित पंडित कमल किशोर शर्मा ने कहा कि नगर का नगर पालिका अध्यक्ष ऐसा व्यक्ति चुनकर सामने आए जो नगर में शीघ्र ही धार्मिक आयोजन हेतु दशहरा मैदान एवं एक सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं धार्मिक आयोजन वहां सुव्यवस्थित रूप में हो सके उसके लिए सामुदायिक भवन का निर्माण उसकी पहली प्राथमिकता रहे। हरि नारायण श्रीवास्तव रिटायर्ड शिक्षक ने कहा कि नगर परिषद अध्यक्ष का प्रथम प्रयास नगर की जीवनदायिनी पलक मति नदी का जीर्णोद्धार एवं उसका विकास होना चाहिए क्योंकि यह पलक मति नदी नगर की वर्षों पुरानी संपदा है जो आज समाप्ति की ओर है। इसका जोरदार प्राथमिकता से होना चाहिए। रमेश राजपाल कृषक ने कहा कि नगर का परिषद अध्यक्ष एक विकासशील व्यक्तित्व होना चाहिए जो सर्व धर्म समाज को लेकर नगर के विकास के बारे में सोचे नगर में जो विकास कार्य रूके हुए हैं उनको प्राथमिकता से कराएं। नगर के युवा अमन शानू, गोलू शाक्य, हिमांशु घुते, रोहित रामानी, किशोर रैकवार आदि ने कहा कि आज नगर में हम युवाओं को खेलने के लिए कोई उचित खेल मैदान नहीं है। नगर परिषद अध्यक्ष को प्राथमिकता से नगर में एक बेहतर खेल मैदान देना चाहिए जो नगर के युवाओं के सर्वांगीण विकास में सहायक बन सके। नगर के विकास में अपनी भूमिका निभा सके।

पिता का साया सिर से उठा तो गुरूकुल ने दिया बच्चों को सहारा

उदयपुरा। गुरूकुल स्कूल उदयपुरा में अध्ययनरत छात्र दीपेश पटेल व कुनाल पटेल के पिता दिनेश पटेल का सात माह पूर्व एक कार दुर्घटना में निधन हो गया था। जिससे पूरा परिवार शोक सागर में डूब गया। पिता के नहीं रहने पर कई समस्याएं परिवार के सामने आ जाती हैं। एक तो उस गहन दुख से उबरना और दूसरा बच्चों का भविष्य। इसमें दोनों बच्चों के भविष्य बनाने के लिए गुरूकुल परिवार ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इन दोनों बच्चों की लगभग 90 हजार रुपये की सहायता प्रदान की। इसी प्रकार कोरोना से प्रभावित विद्यार्थीयों के लिए भी गुरूकुल ने सहयोग किया है। संचालक रामकृष्ण श्रोत्रीय के इस निर्णय की संपूर्ण क्षेत्र में भूरी-भूरी प्रशंसा की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close