रायसेन। नवदुनिया प्रतिनिधि

गोशालाओं की समस्याओं को लेकर गोसेवकों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम ज्ञापन कलेक्टर अरविंद कुमार दुबे को सौंपा है। ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि आपके नेतृत्व में बनी गोभक्तों की सरकार के राज्य में गोमाता अत्यंत दुखी है। इस कारण से गोभक्त व जनमानस में नाराजगी है। गोशालाओं के संचालन के लिए प्रति गोवंश बीस रुपये प्रतिदिन के हिसाब से अनुदान राशि दिया जाना निश्चित किया गया है। परंतु यह राशि विगत अठारह माह की गोशालाओं को दिया जाना शेष है। इस राशि को शीघ्र गोशालाओं को आवंटित की जाए। गोशालाओं को सौ गोवंश पर पांच एकड़ भूमि आवंटित किया जाना तय हुआ था। परंतु गोशालाओं को यह भूमि अब तक नहीं मिली है। गोशालाओं की गाय चराने में चरोखर व हरा चारा प्राप्त नहीं हो पा रहा है। अनुदान की राशि प्राप्त नहीं होने के कारण गोशालाओं पर कर्जा हो गया है। जिससे गोशाला संचालन में काफी बाधाएं आ रही हैं। यदि यह राशि जल्द आवंटित नहीं हुई तो गोशाला संचालित करना कठिन होता जाएगा। जिससे गोशाला के गोवंश भी सड़क पर आ जाएंगे। शासकीय और अशासकीय गोशालाओं में जो अनुदान नियम में भिन्नाता रखी गई है उसे दूर कर एकरूपता लाई जाए। शहरी क्षेत्र की गोशालाओं में मनरेगा से निर्माण के लिए राशि दिए जाने का प्राविधान नहीं है अतः शहरी क्षेत्र की गोशालाओं को निर्माण के लिए मप्र शासन द्वारा राशि प्रदान करने का प्राविधान किया जाए। गोशालाओं में नियमित रूप से पशु चिकित्सक गोवंश का उपचार करें एवं दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। लंपी वायरस व अन्य बीमारियों को ध्यान में रखकर सभी गोशालाओं का टीकाकरण कराया जाए। पूरे प्रदेश में गोचर भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया जाए। समिति या समूह द्वारा जो भी शासकीय गोशाला संचालित की जा रही है उनकी अनुदान राशि पंचायत की बजाय सीधे गोशाला समिति या समूह के खाते में डाली जाए। ज्ञापन देने वालों में इंद्रीश कुमार दीक्षित, राजीव चौबे, भूपेंद्र सिंह, शिव नारायण व्यास, हरी नारायण शर्मा, अवध सिंह पटेल एवं अन्य गोसेवक शामिल रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close