गैरतगंज (नवदुनिया प्रतिनिधि)। बीते दिनों तहसील क्षेत्र में हुई मूसलाधार वर्षा के कहर ने क्षेत्र भर की खरीफ़ की फसलें खराब कर दी है। अतिवृष्टि के चलते बीना नदी उफ़ान पर आ जाने से कई स्थानों पर फसलें दो दिनों तक बाढ़ के पानी में डूबी रहीं। जिससे वे खराब हो गई। बुधवार को किसान संगठन के बैनर तले क्षेत्रीय किसानों ने ज्ञापन सौंपकर मुआवजा की मांग की है।

तहसील क्षेत्र में भारी बारिश के चलते खरीफ़ की फसलों में हुए नुकसान का सर्वे कराकर मुआवजा दिलाने की मांग को लेकर बुधवार को किसान संगठन के बैनर तले बड़ी संख्या में किसानों ने मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम रवीश श्रीवास्तव को एक ज्ञापन सौंपा है। जिसमें बताया गया है कि अतिवृष्टि ने उन्हें बर्बाद करके रख दिया है। वर्षा ने उनकी बोई हुई धान, सोयाबीन, उड़द, मूंग सहित अन्य फसलें पूरी तरह से बर्बाद कर दी है। ज्ञापन सौंपने पहुंचे किसान संगठन एवं ग्राम हरदोट के किसान नारायण सिंह धाकड़, मुकेश धाकड़, अरविंद धाकड़, ओम नारायण, दुर्गाप्रसाद, जगदीश, प्रमोद, नवलेश तिवारी, सुमित, सचिन, वीरेंद्र, प्रदीप, मोतीलाल लोधी, राजू यादव, मूलचंद, अशोक धाकड़ अर्जुन लोधी ने बताया कि बीना नदी किनारे बोई गई फसलो को बाढ़ ने खराब कर दी। तथा फसलों को उखाड़ दिया। पानी लंबे समय तक भरे होने से फसल गल गई और बर्बाद हो गईं। उन्होंने बताया कि सबसे अधिक नुकसान ग्राम हरदोट, मूडला, आलमपुर, बीनपुर, मुरपार कला चांदोनी, गढ़ी, जुझारपुर, घाना, गेहूंरास सहित अन्य बीना नदी किनारे वाले खेतों में नुकसान हुआ है। इसके अलावा भी कई ग्रामो में अधिक वर्षा से फसलें खराब हुई हैं। किसानों ने मांग की है कि जल्द से जल्द गिरदावली कराई जाए। नुकसान वाले क्षेत्रों का राजस्व विभाग सर्वे कराएं तथा मुआवजा राशि किसानों को दिलाई जाए।

- ग्रामीण क्षेत्रों में वर्षा से नुकसान के मुआवजे की मांग

गैरतगंज। तहसील के ग्राम खामखेड़ा में गुलाब आदिवासी, कंछेदी, राजू गौर एवं ग्राम सईदपुर के बाबूलाल ठाकुर, भबूत सिंह पाल, प्रकाश पाल एवं गुड्डू पाल के कच्चे मकान अतिवृष्टि से भरभरा कर गिर गए। जिससे उन्हें बड़े पैमाने पर आर्थिक नुकसान हुआ है। ग्राम के सरपंच अनिल कुमार साहू ने बताया कि पीड़ित परिवारों के लिए ग्राम पंचायत द्वारा सहायता की जा रही है। वही जिन लोगों का नुकसान हुआ है उनका पंचनामा तैयार कर राजस्व विभाग के अधिकारियों को भेजा जाएगा। पीड़ित परिवारों ने शासन प्रशासन से उचित मुआवजे की मांग की है।

सांचेत में जनप्रतिनिधियों ने नुकसान का जायजा लिया

सांचेत (नप्र)। क़स्बा सांचेत में रविवार को हुई तेज बारिश ने सोमवार की सुबह सांचेत में घरो और दुकानों में पानी भर जाने से बहुत ज्यादा नुकसान हो गया था। सड़क किनारे से पान की गुमठियां भी बह गई थीं। सभी का जीवन अस्त व्यस्त हो गया था। मंगलवार को नायब तहसीलदार शुभांगी खरे आई और सब जगह घूम कर देखा और दोपहर एक बजे स्वास्थ्य मंत्री डा. प्रभु राम चौधरी, पूर्व सरपंच देवकिशन शर्मा, सरपंच कल्याण सिंह लोधी, भाजपा नेता राकेश शर्मा, राज मीणा ने आकर पूरे कस्बा सांचेत का भ्रमण किया। मंत्री ने सांचेत वासियों को आश्वासन दिया कि आपके नुकसान का जल्द से जल्द हमारी सरकार द्वारा मुआवजा दिया जाएगा। बुधवार से सर्वे कार्य शुरू हुआ है। सर्वे करने वालों में शिवम मेहरा हल्का पटवारी, भैया लाल माहौर पटवारी, फूल सिंह लोधी पटवारी, अनिल रघुवंशी पटवारी, सुधीर श्रीवास्तव पटवारी, चंद्रेश राजोरिया पटवारी, ख़ुशी लाल गौर सचिव, हरि नारायण लोधी रोजगार सहायक, सचिव संतोष पंथी, ग्राम कोटवार सर्वे करने के लिए बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पहुंचे हैं। जिससे लोगों को जल्दी मुआवजा मिलेगा।

मूसलाधार वर्षा व आंधी से व्यवस्थाएं चरमाई

सुल्तानगंज (नप्र)। कस्बा सुल्तानगंज क्षेत्र में रविवार- सोमवार से नदी नाले ऊफान पर हैं। जिससे क्षेत्र का अन्य गांवों से सम्पर्क दूट गया। हर जगह पानी ही पानी दिख रहा है। बुजुर्गों ने बताया कि ऐसी बरसात दस वर्ष पहले हुई थी, लेकिन आधी नहीं चली थी। अब तो आंधी अलग ही चल रही है। जिसमें बिजली के पोल टूट गया। तार उमस गए। तीन दिन से बिजली गुल है। वर्षों पुराने सागौन के पेड़ धराशायी हो गए। सुल्तानगंज, गुलाब मड़खेड़ा, पदरभटा आदि गांवों वर्षो पुराने मकानों की दीवारें भरभरा कर गिर गईं। जिससे लोगों को बरसात होने पर भी अपने परिवार को सुरक्षित जगह जाना पड़ा। बचाव के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी, लेकिन इसके बाद भी नुकसान हो गया। जिसमें गुलाब मडखेड़ा में मकान छतिग्रस्त हुए पीड़ित लोगों ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। धनराज सिंह पिता भवूत सिंह, बलवन्त सिंह पिता सुन्दर घोसी, धनश्याम पिता हाजारी, राधे विश्वकर्मा पिता भागीरथ, सत्यनायण पिता भगोनी, पुरषोत्तम पिता धोकल, नत्थू सिंह पंडा, हरीदास, रवि पिता विकास के मकानों का कुछ हिस्सा गिर गया है। दिवार धराशायी हो गई है। जिससे ग्रामीणों ने मदद की मांग की है। पीड़ित परिवारों के पास नयाब तहसीलदार, पटवारी, सरपंच, संचिव सहित सभी अमला मिला और सहायता मुहैया कराने का आश्वासन दिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close