रायसेन (ब्यूरो)। भुजारिया पर्व पर झमाझम बारिश होने के बावजूद लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ। लोगों ने भीगते पानी में यह पर्व मनाया और झिमझिम बारिया के बीच शहर में भुजरियों का जुलूस निकला। हालांकि बारिश के कारण लोगों की संख्या कम रही। बावजूद इसके त्यौहार का उत्साह लोगों में जबर्दस्त था।

रक्षाबंधन के दूसरे दिन मनाए जाने वाला भुजरिया पर्व जिले भर में उत्सा एवं उमंग के साथ मनाया गया। शहर, नगर, कस्बा एवं गांव हर जगह लोगों ने भुजरियों के जुलूस निकाले और नदी-सरोवरों पर उनका विसर्जन किया। इसके उपरांत घर-परिवार व मित्र, संबंधियों में भुजरिया मिलन समारोह शुरू हुआ, जो देर रात तक चलता रहा। पर्व की परंपरा अनुसार एक-दूसरे से भुजरियों का आदान-प्रदान कर शुभकामनाएं दी। वहीं छोटों को बड़ों से अशीर्वाद व दुआएं दी और छोटों ने बड़ों से उपहार प्राप्त किए। बच्चों में उपहार मिलने के कारण पर्व का उत्साह कुछ अधिक रहा।

उत्साह से मना भुजरिया पर्व

फोटो क्र. 19 आरएसएन 4

गैरतगंज। भुजरिया पर्व के दौरान बीना नदी पर भुजरियां विसर्जित करतीं महिलाएं।

गैरतगंज। भुजरिया पर्व क्षेत्रभर में परम्परागत तरीके से उत्साह के साथ मनाया गया। भुजरिया पर्व पर लोगों ने मिलन समारोहो के माध्यम से एक दूसरे को त्यौहार की शुभकामनाएं दी। खास बात यह रही कि बारिश के बाबजूद इस त्यौहार पर लोग बड़ी संख्या में भुजरिया पर्व मनाने अपने घरों से निकले तथा सभी ने त्यौहार का भरपूर लुत्फ लिया।

भुजरिया पर्व को लेकर लोगों में हमेशा की तरह उत्साह रहा। शुक्रवार को पूरी गैरतगंज तहसील भर में भुजरिया पर्व की धूम रही। प्रेम और सद्भाव के प्रतीक इस पर्व पर सभी धर्मो के लोगो ने एक दूसरे को भुजरिया देकर पर्व की शुभकानाएं दी। नगर में कई स्थानों पर भुजरिया पर्व के उपलक्ष्य में मिलन समारोह भी आयोजित किए गए। इस मौके पर नगर में श्रद्घालुओं ने भुजरियों का चल समारोह किसानी मौहल्ला, पाठा मौहल्ला से होता हुआ नगर के मुख्य मुख्य मार्गो पर निकाला एवं बीना नदी घाट पर भुजरियों का विसर्जन किया गया।

बाइक फिसलने से 2 घायल

सिलवानी (निप्र)। लालघाटी पर बाइक फिसलने से पिता-पुत्री घायल हो गए। घायलों का उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिलवानी में किया गया। सुबह से ही हो रही बारिश के चलते सड़कों पर पानी भरा हुआ है। जिसके कारण बाइक सवार अपना संतुलन खो बैठा।

जानकारी के अनुसार देवरी पिपरिया निवासी 35 वर्षीय अमर सिंह अपनी पुत्री 17 वर्षीय बर्षा के साथ बाइक से सिलवानी की तरफ आ रहा था। तभी लालघाटी पर बाइक स्लिप हो गई। जिससे बाइक सवार पिता व पुत्री घायल हो गए। दोनों को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां उनका उपचार चल रहा है।

अनवरत बारिश के कारण बाजार में छाया सन्नाटा

सिलवानी (निप्र)। सुबह से हो रही लगातार बारिश के शुक्रवार को जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हो गया है। लागातार बारिश के कारण नगर का बाजार नहीं खुल पाया और सड़कों पर दिन पर सन्नाटा पसरा रहा। बारिश के कारण लोगों घरों के कैद हो कर रह गए।

शुक्रवार को सुबह 7 बजे से नगर व आसपास के क्षेत्र में अनवरत बारिश हो रही है, कभी तेज तो कभी धीमें रुक रुक कर हो रही से मौसम खुशनुमा बना हुआ है। बारिश होने से जनजीवन प्रभावित हो गया है। बारिश होने से लोग घरों से बाहर हीं नही निकले। लगाातर बारिश के चलते बाजार में अधिकांश दुकानें नहीं खुलीं। जो दुकाने खुली भी है उन दुकानों पर ग्राहकों की आवाजाही नहीं है। दुकान मालिक फुरसत में बैठे हुए है। बीते तीन दिनो से मौसम साफ होने से लोगों ने मजे से बगैर किसी अवरोध के राखी का पर्व उत्साह के साथ मनाया। बारिश होने से तापमान में भी गिरावत दर्ज की गई।

स्कूलों में रही कम उपस्थिति : सुबह से ही लगातार हो रही बारिश का असर स्कूलों व सरकरी कार्यालयों पर भी रहा। वही दूसरा कारण भुजरिया पर्व भी था। बारिश होने से स्कूलों में भी बधाों की उपस्थित रोज की अपेक्षा काफी कम रही। मरीजों से गुलजार रहने वाले सामुदायिक केंद्र में शुक्रवार को कम संख्या में मरीज उपचार कराने आए। यहां भी चिकित्सक मरीजों का इंतजार करते रहें। शासकीय कार्यालयों में भी ग्रामीणों की आवाजाही नाम मात्र की ही रही।

वाहनों की अंधी रफ्तार पर लगेगा ब्रेक

- अब 80 किमी से अधिक रफ्तार पर नहीं चलेंगे वाहन

- सरकार ने प्रदेश में तय की वाहनों की रफ्तार, उल्लंघन करने पर होगी कार्रवाई

रायसेन (ब्यूरो)। सड़कों पर अंधी रफ्तार से दौड़ने वाले वाहनों पर अब सख्त कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश में वाहनों की रफ्तार की अधिकतम सीमा तय है, जिसके मुताबिक वाहनों की अधिकतम गति 80 किमी प्रति घंटा होना चाहिए। इससे अधिक रफ्तार पर दौड़ते वाहनों पर अब सख्त कार्रवाई की जाएगी।

प्रदेश में वाहनों की अधिकतम रफ्तार तय होने के बावजूद उस पर कोई अमल नहीं करता, इसको लेकर अब लोगों को जागरुक करने सरकार प्रसार-प्रसार एवं कार्रवाई करेगी। यह निर्णय हाल ही में सड़क सुरक्षा नीति की क्रियान्वयन बैठक में लिया गया है। राजधानी में आयोजित इस बैठक की अध्यक्ष अपरमुख्य सचिव बीपी सिंह ने की। बैठक में पुलिस महानिदेशक ऋषिकुमार शुक्ला भी उपस्थित रहे।

श्री सिंह ने कहा कि प्रदेश के सभी मागोर् के अधिक दुर्घटना वाले क्षेत्रों का ट्रैफिक पुलिस और लोक निर्माण विभाग के अधिकारी संयुक्त रूप से निरीक्षण करें। आवश्यक सुधार सितंबर 2016 तक सुनिश्चित किए जाए। अपर मुख्य सचिव श्री सिंह ने पुलिस सहित स्वास्थ्य, लोक निर्माण अय्र परिवहन विभाग आदि में सड़क सुरक्षा के लिए एक-एक नोडल अधिकारी नामांकित करने तथा सड़क सुरक्षा के प्रावधानों का निरंतर क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के लिए संबंधित अधिकारियों की प्रतिमाह बैठक अनिवार्यता करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही जिला स्तर पर भी सड़क सुरक्षा के लिए जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में समिति गठित करने के निर्देश दिए गए।

सचिव लोक निर्माण ने बताया कि विभाग द्वारा सभी सड़कों के निर्माण में रोड सेफ्टी ऑडिट को अनिवार्य किया गया है। बैठक में सभी राष्ट्रीय राज्य राजमागोर् तथा अन्य प्रमुख मागोर् पर स्पीड लिमिट के साइनेज लगाने और इस प्रावधान का व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए।

फर्जी सीआईबी अधिकारी पहुंचा जेल, पुलिस ने बढ़ाई धारा 420

- पुलिस के अनुसार अभी उनके पास नहीं है कोई धोखाधड़ी की शिकायत

बाड़ी (निप्र)। सीआईबी अधिकारी बनकर घूमने वाले आरोपी को पुलिस ने शुक्रवार को न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया है। उससे पूछताछ में फिलहाल पुलिस के हाथ कोई बड़ी सफलता नहीं लगी है, लेकिन आरोपी के पास से पीली बत्ती और पुलिस की तरह गाड़ी पर लगी नेम प्लेट मिली है, इस अधार पर पुलिस ने उसकी गतिविधियों को धोखाधड़ी की श्रेणी में मानने हुए उस पर आर्म्स एक्ट के साथ 420 की धारा बढ़ाई है।

बाड़ी थाना प्रभारी आरएस यादव ने बताया कि आरोपी अमित राजपूत मकान नंबर 20 मधुवन बिहार मिसरौर का निवासी है और उसने पूछताछ में बताया है कि वह उत्तरप्रदेश के वाराणसी जिले के शिवपुर की संस्था सीआईबी का मध्यप्रदेश का चीफ है। हालांकि उसे संस्था प्रमुख के बारे में कोई जानकारी नहीं है। उससे मिली जानकारी की पुष्टि के लिए एसपी के माध्यम से बाराणसी एसपी को पत्र लिखकर जानकारी मंगाई जाएगी। उसकी गाड़ी पर जिस तरह से संस्था का नाम पुलिस रंग वाली पट्टियों पर लिखा गया था, वह लोगों को धोखा देने वाला है। साथ ही उसके पास से पीली बत्ती भी मिली है, जो संदेहास्पद है। इसके अलावा कई सारे बढ़े पदों की सीले मिलना भी उसकी गतिविधियों को संदिग्ध बताते है। ऐसे में आरोपी पर लगाई गई आर्म्स एक्ट की धारा के साथ उस पर 420 की धारा भी बढ़ाई गई है। थाना प्रभारी ने बताया कि शुक्रवार को उसे न्यायालय में पेश किया गया था, जहां से पुलिस ने उसका रिमांड मांगा, लेकिन न्यायालय ने रिमांड देने से इंकार करते हुए, उसे जेल भेज दिया है।

पिता थे पंचायत सचिव

पुलिस द्वारा पकड़ा गया आरोपी अमित राजपूत का परिवार मूलतः बरेली के पास ग्राम घाट सेमरी का रहने वाला है। जहां से कई साल पहले उनका परिवार मिसरौद चला गया। अमित राजपूत के पास से गाम चारगांव के सचिव की सील मिली है, जो दरअसल उसके पिता की है। उसके पिता इस गांव के पूर्व सचिव थे, जो अब रिटायर्ड हो चुके हैं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags