बाड़ी(रायसेन)। औबेदुल्लागंज वनमंडल की बाड़ी रेंज के सिरवारा गांव में शुक्रवार सुबह धान के खेत में बाघ नजर आने से ग्रामीणों में दहशत फैल गई। विभागीय टीम ने करीब आठ घंटे की मशक्कत के बाद बाघ को बेहोश कर पकड़ लिया। जानकारी के अनुसार बाड़ी कस्बे से महज तीन किमी दूर सिरवारा के बबलू आदिवासी के धान के खेत में सुबह करीब 8 बजे बाघ नजर आया। यह खेत आबादी के पास ही है।

इससे ग्रामीणों में दहशत फैल गई। कुछ ग्रामीणों ने मोबाइल से उसके फोटो लेकर पुलिस और बाड़ी रेंजर को सूचना दी। रेंजर ने भोपाल में वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित किया। तब तक यहां पुलिस और बाड़ी से वन विभाग की टीम आ गई।

खेत के आसपास के घरों से ग्रामीणों को निकालकर सुरक्षित जगह पहुंचा दिया। विभागीय अमला गांव में ही मौजूद रहकर बाघ पर नजर रखे हुए था। भोपाल के वन विहार से टीम पूरे संसाधनों के साथ आई। इस टीम ने ग्रामीणों को घरों के अंदर कर बाघ को पकड़ने के प्रयास किए। टीम और बाघ के बीच लुकाछिपी चलती रही।

गुस्साया बाघ काफी देर तक गांव में भागता रहा। शाम करीब चार बजे टीम ने बाघ को बेहोश किया। फिर उसे पकड़कर भोपाल ले गई। वन विभाग के अनुसार यहां सिंघोरी अभयारण्य गांव के पास ही है। इसलिए वहां से इस क्षेत्र में अक्सर वन्य प्राणी आ जाते हैं।

बाघ को पकड़ लिया

शुक्रवार की सुबह सूचना मिली थी कि सिरवारा गांव में बाघ देखा गया है। मौके पर देखकर उच्च अधिकारियों को अवगत कराया। भोपाल से आई टीम बाघ को पकड़कर भोपाल ले गई।

-ओमप्रकाश मसकोले, एसडीओ वन, बाड़ी, जिला रायसेन

Jabalpur News : देश भर में चल रहे एक ही आईएमईआई नंबर के 1 लाख से ज्यादा मोबाइल फोन

Posted By: Hemant Upadhyay