ब्यावरा (नवदुनिया न्यूज)। पिछले दिनों जबलपुर जोन के जीएम शेैलेन्द्र कुमार सिंह के ब्यावरा दौरे के बाद रामगंजमंडी-भोपाल रेल लाइन की प्रक्रिया में गति आना शुरू हो गयी है। मंगलवार को राजस्व व रेलवे विभाग द्वारा संयुक्त रूप से सर्वे किया गया और भूमि अधिग्रहण के लिए ग्राम खजूरिया में शिविर का आयोजन हुआ। संयुक्त टीम ने खजूरिया के अलावा अन्य छह गांव में दावे आपत्तियां लेने के लिए शिविर आयोजित किए। इस दौरान कई तरह की आपत्तियां सामने आयी । ग्रामीणों ने बताया कि सर्वे में किसी के खेत का कुंआ, किसी की ट्यूबवेल आदि का मुआवजा देने के लिए संज्ञान नहीं लिया गया है। शिविर में सभी की आपत्तियां दाखिल की गयी है और इनके निराकरण के बाद अवार्ड पारित किया जाएगा। इस दौरान तहसीलदार, नायब तहसीलदार, आरआई और पटवारी, रेलवे विभाग सदस्य सहित अन्य लोग मौजूद रहे। रेलवे के सेक्शन इंजीनियर अविनाश कुमार ने भी आपत्तियां को स्वीकार किया । उन्होंने बताया कि राजस्व विभाग द्वारा भूमिअधिग्रहण की प्रक्रिया पूर्ण कराने के बाद रेलवे अपना कार्य प्रारंभ करेगा। प्रथम चरण में अधिग्रहित की गयी भूमि पर अर्थवर्क शुरू कर दिया जाएगा।

शुरू हुआ ब्रिज का निर्माणः सर्वे करने पहुंची टीम ने बताया कि भोपाल रामगंज मंडी रेल लाइन प्रोजेक्ट में राजस्थान में तेजी से काम हुआ है, लेकिन अब भोपाल रेल मंडल द्वारा भी तेजी से कार्य शुरू किया जा रहा है। इसके तहत ब्यावरा के निकट कालीपीठ मार्ग पर पुल बनाने का कार्य प्रारंभिक तौर पर शुरू हुआ है। उनका कहना था कि उक्त क्षेत्र में भूमि अधिग्रहण कार्य पहले ही पूर्ण हो चुका है, ब्रिज के लिए सबसे पहले अर्थवर्क किया जा रहा है। सर्वे कार्य के संबंध में तहसीलदार एमपीएस किरार ने बताया कि गांव में शिविर आयोजित कर जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया के पूर्व भूस्वामियों से दावे आपत्तियां ली जा रही है। इनके निराकरण के बाद अवार्ड पारित होने की कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local