ब्यावरा (नवदुनिया न्यूज)। शनिवार दोपहर ग्राम पंचायत भूरा के ग्राम हाड़ाहेड़ी के ग्रामीण बड़ी संख्या में एकत्रित होकर शहर के शहीद कलोनी स्थित बिजली कंपनी के कार्यालय पर पहुंचे। उनका कहना था कि गांव में एक माह से लाइट नहीं है। इसलिए गांव में तुरंत डीपी लगाई जाना चाहिए। लेकिन जब बिजली कंपनी के अधिकारियों ने नियमों का हवाला दिया तो वह आक्रोशित हो उठे। उन्होंने कार्यालय के मुख्य गेट को बंद कर दिया और जमकर नारेबाजी करते हुए हंगामा किया । हंगामें की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और गेट खुलवाया।

एक माह से बंद है लाइटः मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि उनके गांव में 1 माह से लाइट नहीं है। इससे गांव में मच्छरों के कारण बीमारियां बढ़ रही है और वह रोजमर्रा के कार्य भी नहीं कर पा रहे हैं। वर्तमान में बच्चों की परीक्षा चल रही है और लाइट ना होने के कारण वह पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने गेट खुलवाया और ग्रामीणों को समझाइश दी। बिजली विभाग के ग्रामीण यंत्री एमके मिश्रा के कक्ष में पुलिस ने ग्रामीणों को बुलाकर समझाया। अंत में निर्णय हुआ कि सभी लोग बिल जमा करेंगे और मंगलवार को गांव में 3 फेस की डीपी लगाई जाएगी ।

बिल जमा होने पर ही लगेगी डीपीः बिजली कंपनी के ग्रामीण मंत्री एमके मिश्रा ने बताया कि गांव का अगस्त माह तक बिल जमा हुआ है। इसके अलावा कई लोगों ने 3 से 4 माह का बिल जमा नहीं किया है। ऐसे में नियम अनुसार नई डीपी नहीं लगा जा सकती। अगर सभी बकायादार सोमवार तक राशि जमा कर देंगे तो, मंगलवार को गांव में डीपी लगा दी जाएगी। उन्होंने बताया कि बिजली विभाग द्वारा पिछले एक माह से वसूली अभियान छेड़ा हुआ है और इस दौरान सैकड़ों कनेक्शन काटे गए हैं। बिजली कंपनी की खस्ताहाल व्यवस्था के कारण कंपनी पर उच्च स्तर से वसूली करने का भारी दबाव है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local