ब्यावरा। आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष एवं राष्ट्रीय सेवा योजना दिवस के अवसर एवं महात्मा गांधी की 152वीं जयंती के अवसर पर मनाये जाने वाले पखवाड़े के अंतर्गत शनिवार को स्थानीय नेताजी सुभाष चंद्र बोस शासकीय महाविद्यालय ब्यावरा में एक ऑनलाईन कार्यशाला का आयोजन विवेकानंद करियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ एवं विश्व बैंक की गुणवत्ता उन्नययन परियोजना द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के विषय पर किया गया। इस कार्यशाला के शुभारंभ के अवसर पर संस्था प्राचार्य डॉ. व्हीके जैन ने मां शारदा की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर नीति पर संक्षेप में उद्धबोधन दिये। तत्पश्चात शासकीय महाविद्यालय रायसेन से डॉ. शीला रावल ने शिक्षा नीति पर विस्तृत व्याख्यान दिये। आपने नवीन शिक्षा नीति को जॉब सीकर होने के स्थान पर कौशल विकास का माध्यम निरूपित किया, तथा विद्यार्थी के नैसर्गिक विकास का पहलू बताया। इस कार्यशाला के द्वितीय वक्ता के रूप में महाविद्यालय के प्राध्यापक प्रमोद खरे ने पॉवर पाईंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से नवीन शिक्षा नीति को विस्तार से समझाते हुये बताया कि विषय चयन करने में विद्यार्थियों को अपनी रूचि का विशेष ध्यान रखना चाहिए। कार्यक्रम का संचालन करते हुये प्रो. एके भारद्वाज ने नवीन शिक्षा नीति को भविष्य की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी एवं अखिल भारतीय सेवाओं में चयन के लिये वैकल्पिक प्रश्न पत्र के चयन करने में सहयोग प्रदान करेगी। जिससे निश्चित ही अखिल भारतीय सेवाओं में छात्राओं का प्रवेश बढ़ेगा। कार्यक्रम का आभार खुशीलाल जाटव ने माना। इस अवसर पर रासेयो के कार्यक्रम अधिकारी डॉ. केएन मीना ने रासयो पखवाड़ा के अवसर पर सभी उपस्थितों का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर महाविद्यालय परिवार के प्राध्यापक, अतिथि विद्धान, कर्मचारी एवं नवीन प्रवेशार्थी छात्र-छात्राओं ने बड़ी संख्या में भाग लिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local