पचोर(नवदुनिया न्यूज)। गोवंश के अवैध परिवहन पर अंकुश लगाने एवं आरोपितों के विरुद्घ सख्त से सख्त कार्रवाई के लिए एसपी प्रदीप शर्मा ने समस्त थाना प्रभारी को निर्देश दे रखे है। इसी कड़ी में गोवंश के अवैध परिवहन को रोकने हेतु थाना इंचार्ज पचोर द्वारा टीम का गठन किया जाकर मुखबिर तंत्र को मजबूत किया गया जिसके फलस्वरूप मुखबिर द्वारा सूचना मिली की सदगुरू होटल के पहले पुलिया के पास एबी रोड पर एक एक्सीडेंट शुदा आयशर खडा है जिसके पास दो संदिग्ध व्यक्ति खडे है। मुखबिर सूचना पर तत्काल थाना प्रभारी पचोर द्वारा टीम गठित मौके रवाना किया। सदगुरू होटल के पहले पुलिया के पास एबी रोड पर पहुंचे तो दोनो व्यक्ति पुलिस की गाडी को देखकर पुलिया कूंदकर खेत की तरफ भागे जिनमे से एक व्यक्ति को घेराबंदी करके पकडा जिसके दोनो पैरो मे चोट लगी है। नाम पता पूछने पर अपना नाम फारूख खान उम्र 25 साल निवासी रेवागंज का होना बताया तथा अन्य व्यक्ति के विषय मे पूछने पर उसका नाम शाहरूख निवासी भोपाल का होना बताया जिसे गाडी के पास ले जाकर पीछे से तिरपाल खुलवाकर देखा तो गाडी मे कई केडे ठूस ठूस कर बेरहमी से भरे थे। फारूख से उक्त केडो के विषय मे पूछने पर 25 केडे होना बताया। परिवहन संबंधी कागजात मांगने पर न होना बताया और उक्त केडो को वध हेतू शिवपुरी के जंगल से औरंगाबाद ले जाना बताया। आरोपित को अभिरक्षा मे लेकर मय वाहन आयशर क्रमांक डीडी 01 एच 9989 के मय फोर्स के थाने आया स्वतंत्र साक्षी को तलव किया जो थाने उपस्थित आये जिनके समक्ष तिरपाल खोला एवं आसपास के राहगीरो की मदद से उक्त वाहन से केडो को बाहर निकाला कुल 25 केडे वाहन से निकाले जिनके पैर आपस मे बंधे थे एवं बडी क्रुरता से वाहन मे ठूस ठूस कर भरे थे। सारे केडे निकालने पर उक्त वाहन मे अंदर की तरफ दो प्लास्टिक के सफेद केन रखे मिले जिनका ढ-न खोलकर सूंघा एवं स्वतंत्र साक्षियो को भी सुंघाया जिससे देशी शराब की बदबू आ रही थी पशु चिकित्सक पचोर को तहरीर देकर मेडिकल परीक्षण कराने पर दो केडे मृत पाये जिनका पीएम कराने हेतू तहरीर दी। आरोपितों पर अपराध क्रमांक 237/22 धारा 4, 6, 9 म.प्र. गोवंश वध प्रतिषेध अधि.2004 व धारा 11(1)(घ) पशु क्रुरता अधिनियम एवं आबकारी अधिनियम की धारा 34(2) का पाया जाने से अपराध पंजीबद्घ कर विवेचना में लया गया। कार्रवाई में थाना इंचार्ज शैलेषचंद्र कर्नाटक एवं उनकी टीम के प्रआर विजय शर्मा, दिनेश यादव, आरक्षक नीलेश शिवहरे, दिग्विजय, सोनू अहिरवार, महिला आरक्षकपल्लवी की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close