पेज 12 पर लीड

4 बीआरओ 2ः छापीहेड़ा। कार्रवाई का विरोध करते दुकानदार।

4 बीआरओ 3ः जेसीबी से अतिक्रमण हटाने पहुंचा नगर पालिका अमला।

दुकानदारों ने अमले पर लगाया पक्षपात का आरोप छापीहेड़ा। नगर पंचायत परिषद ने मंगलवार को प्रशासन के साथ मिलकर मेन रोड से अस्थाई और स्थाई अतिक्रमण हटाया। अतिक्रमण हटाने के दौरान नपा टीम और अतिक्रमणकारियों के बीच विवाद भी हुआ। हालांकि नायब तहसीलदार मोहित सिनम और टीआई उमा शंकर मुकाती के हस्तक्षेप के बाद विवाद शांत हुआ। नगर परिषद ने सतत अतिक्रमण हटाने की बात कही।

मंगलवार करीब 2.30 बजे नगर परिषद, नगर पंचायत सीएमओ आरसी वर्मा, नायब तहसीलदार मोहित सिनम एवं थाना प्रभारी उमाशंकर मुकाती अमले के साथ एकत्रित हुए। यहां अतिक्रमण हटाने की मुहिम कहां से कहां तक चलाए जाने की कार्ययोजना बनाने के बाद अमला निकला। अतिक्रमण विरोधी टीम दोपहर करीब 3 बजे नगर परिषद के सामने से ही और कार्य शुरू किया। इसके बाद खजूरी रोड होते हुए बस स्टैंड से रनारा रोड के सामने अतिक्रमण हटाया गया। इस दौरान जेसीबी मशीन से स्थाई व अस्थायी अतिक्रमण भी तोड़ा गया। इस बीच कई स्थानों पर अतिक्रमण विरोधी अमला और अतिक्रमणकारियों में तीखी बहस भी हुई।

दुकानदार बोले पक्षपात हुआ

कार्रवाई के दौरान दुकानदारों ने प्रशासन और नगरपंचायत की अतिक्रमण विरोधी टीम पर पक्षपात कर, चेहरे देखकर अतिक्रमण हटाने के भी आरोप लगाए। दुकानदार बंटी अग्रवाल,बंटी सोनी, राजेश सिंघी, मनोज साजी, दुर्गा प्रसाद वर्मा ने कहा कि नगर पंचायत ने नाली के भीतर अतिक्रमण माना है। कहीं पर अतिक्रमण तोड़े गए, लेकिन कई नेताओं के भवन अतिक्रमण की सीमा में आने के बाद भी नहीं तोड़े गए। कहीं आक्रोश तो कहीं राहत बाजार में चली, अतिक्रमण विरोधी मुहिम से दुकानदार आक्रोशित नजर आए।

बिना नोटिस तोड़ा अतिक्रमण

दुकानदारों बंटी अग्रवाल,मनोज साजी, व कमल सोनी का आरोप है कि बिना किसी नोटिस के अतिक्रमण तोड़ा गया जो कि असंवैधानिक है। जबकि अतिक्रमण तोड़ने से पहले नोटिस दिया जाता है। भेदभाव पूर्ण तरीके से नपा द्वारा अतिक्रमण तोड़ा गया, जिनके बड़े बड़े लोगो से, बड़े बड़े अधिकारियों व मंत्रियों, से सम्बन्ध है उन्हें मौका दिया। जबकि हमारे साथ सख्ती दिखाई गई, यह नगर प्रशासन की सौतेली मानसिकता दर्शाती है।

मुहिम जारी रहेगी

जो भी सीमांकन से बाहर है, उनका अतिक्रमण तोड़ा गया है। आगे भी अतिक्रमण हटाओ मुहिम जारी रहेगी।

-आरसी वर्मा, सीएमओ, नगर परिषद, छापीहेड़ा

Posted By: Nai Dunia News Network