LPG News: एलपीजी के ग्राहक सावधान हो जाएं। आपके द्वारा जो गैस सिलेंडर लिए जा रहे हैं वह कहीं कम वजन के तो नहीं आ रहे हैं। उनमें जो गैस है वह निर्धारित वजन की अपेक्षा कम तो नहीं है। कहीं कम वजन के गैस सिलेंडर न दे जाएं, इसके लिए जरूरी है कि गैस सिलेंडर को अच्छी तरह से परख लें, वजन करा लें इसके बाद ही सिलेंडर प्राप्त करें।

बिना जांचें व बिना वजन करे न लें गैस सिलेंडर

जब भी किसी भी कंपनी का गैस सिलेंडर होम डिलेवरी के लिए घर पहुंचता हो या उपभोक्ताओं द्वारा एजेंसी से ही सिलेंडर प्राप्त किया जाता हो तो बिना जांच किए व बिना वजन किए सिलेंडर नहीं लेने का नियम है। जब तक सिलेंडर की जांच न कर लें, तब तक सिलेंडर प्राप्त नहीं करें। सिलेंडर पर ऊपर जितना वजन अंकित रहता है उतना ही वजन भरे सिलेंडर में होना चाहिए, यदि उससे कम निकलता है तो उसके स्थान पर दूसरा सिलेंडर तय वजन का ही लें। इसके लिए बकायदा सिलेंडर पर सील व वजन की जांच करने के बारे में भी लिखा होता है।

इस तरह की शिकायतें आ रही हैं सामने

राजगढ़ शहर में एचपी कंपनी के जो गैस सिलेंडर उपभोक्ताओं के यहां पहुंच रहे हैं उनमें से बीच-बीच में कई सिलिंडर ऐसे भी सामने आ चुके हैं जिनमें निर्धारित वजन के मुकाबले 2 से 3 किलो तक गैस कम पाई गई है। जैसे ही कर्मचारी होम डिलिवरी के तहत सिलेंडर उपभोक्ताओं के घर पहुंचाने पहुंचे तो कुछ उपभोक्ताओं को सिलेंडर उठाने के दौरान वजन कम लागा। ऐसे में उन्होंने कम वजन होने की आशंका व्यक्त की, हालांकि संबंधित कर्मचारियों का कहना यह एजेंसी से ही सिलेंडर आए हैं। बाद में उपभोक्ताओं द्वारा आपत्ति व्यक्त करने के चलते उन सिलेंडरों के स्थान पर उपभोक्ताओं को दूसरे सिलेंडर उपलब्ध करवाए गए हैं। करीब डेढ़ माह के अंदर कम वजन के सिलेंडर के कुछ केस सामने आ चुके हैं। इस संबंध में खाद्य आपूर्ति अधिकारी अब्दुल नईम कुरैशी से बात करना चाही, लेकिन उनका मोबाइल बंद था।

इन ग्राहकों ने सुनाई आपबीती

केस-01ः

-राजगढ़ में रहने वाले गिरीश शर्मा के यहां होम डिलिवरी करने के लिए कर्मचारी सिलेंडर लेकर पहुंचे थे। जब परिजनों ने सिलिंडर उठाकर देखा तो उसमें उन्हें वजन कम होना प्रतीत हुआ। ऐसे में उन्होंने संदेह व्यक्त किया। संदेह व्यक्त करने व बिना तौल के सिलेंडर नहीं लेने की बात उनके परिजनों द्वारा कही गई। ऐसे में जब सिलेंडर को तौला गया तो उसमें करीब 3 किलो गैस कम होना पाई गई। गैस कम होने के चलते कर्मचारी उक्त सिलेंडर को वापस ले गए और नया सिलिंडर उन्हें उपलब्ध करवाया गया।

केस-02ः

-राजगढ़ शहर में रहने वाले पुरूषोत्तम साहू के यहां भी होम डिलिवरी के रूप में जब सिलेंडर पहुंचा तो उसमें भी उनके परिजनों को वजन कम होना प्रतीत हुआ। उन्होंने भी कम वजन का सिलेंडर होने के चलते उसको लेने से इंकार कर दिया। साथ ही उन्होंने वजन जांचने के लिए तौल करने का कहा। जब सिलेंडर तौला गया तो उसमें दो किलो से अधिक वजन कम होना पाया गया। ऐसे में दो किलो गैस कम होने पर उन्होंने आपत्ति जताते हुए सिलेंडर लेने से इंकार कर दिया गया। इसके बाद उन्हें भी एजेंसी द्वारा नया सिलेंडर उपलब्ध करवाया गया था।

केस-03ः

राजगढ़ शहर में ही गणेश साहू के नाम से भी सिलेंडर बुक होने पर संबंधित एजेंसी के कर्मचारियों द्वारा उनके यहां होम डिलिवरी करते हुए सिलेंडर पहुंचाया गया। उक्त सिलिंडर में इनके परिजनों को भी कम वजन का सिलेंडर होना प्रतीत हुआ। जब सिलेंडर उठाकर देखा तो उसमें वजन कम था। इसके बाद उन्होंने सिलेंडर लेने से इंकार कर दिया। जब वजन कराया गया तो उसमें भी करीब 2.50 किलो वजन कम होना पाया गया। ऐसे में उन्होंने संबंधित कर्मचारियों को भी हिदायत दी है कि बिना तौल किए गैस सिलेंडर न लाए। तौल करने के बाद ही सिलेंडर लाएं।

केस-04ः

राजगढ़ नगर में महेश सोनी के यहां भी कम वजन का सिलेंडर पहुंचने का मामला सामने आ चुका है। जिसके चलते उनके यहां भी कम वजन का सिलेंडर पहुंचा था। सिलेंडर में पर्याप्त गैस नहीं होने पर उन्होंने सिलेंडर लेने से इंकार कर दिया। साथ ही वजन करने का बोला गया। जब वजन किया गया तो उसमें भी 2 किलो गैस कम होना पाई गई। उन्हें भी ऐजेंसी के कर्मचारियों द्वारा दूसरा सिलेंडर उपलब्ध करवाया है।

LPG सिलेंडर की WhatsApp नंबर से भी कर सकेंगे बुकिंग, जानिये पूरी डिटेल

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close