सारंगपुर पेज के लिए लीड खबर

अनदेखीः विभाग की निष्क्रियता से पत्थरों को व्यापारी बना रहे वजन के बांट

महीनों से सारंगपुर में नहीं हुई नापतौल विभाग की कार्रवाई, स्टॉफ की कमी और काम की व्यस्तता से दौरा करने में परेशानी

सचित्र एसआरपी 1- पत्थरों के बांट बनाकर चलती है तुलाई, ग्राहकों के साथ खुलेआम ठगी।

सारंगपुर। नवदुनिया न्यूज

उपभोक्ताओं के संरक्षण के लिए शासन द्वारा जिन विभागों को तैनात किया गया है उनकी अनदेखी के चलते व्यापारी सीधे-सीधे चपत लगा रहे हैं। उपभोक्ताओं के साथ खुलेआम बाजार में ठगी की जारी है। ऐसा नहीं है कि जिला मुख्यालय पर नापतौल विभाग नहीं। विभाग की निष्क्रियता के चलते तथाकथित दुकानदारों के हौसले बुलंद हैं।

वर्तमान समय में तथाकथित दुकानदारों द्वारा बाजार में खुलेआम ग्राहकों को तुलाई के नाम पर चपत लगाई जा रही है। कतिपय दुकानदार पत्थरों के बांट बनाकर आज भी उपयोग में ले रहे हैं, लिहाजा ऐसी स्थिति में उपभोक्ताओं को भी यह पता नहीं चलता है कि दुकानदार द्वारा जो बांट रखा गया है, उसका वजन कितना है।

मापदंड के अनुसार नहीं करते तौल

बाजार में कतिपय दुकानदार तौल के नाम पर ग्राहकों से हर समय अनावश्यक रूप से उलझते रहते हैं। मुख्य रूप से आटा-चक्कियों पर तो पत्थर के बांट का खुलेआम उपयोग किया जाता है। इसके साथ ही सब्जी विक्रेता तथा अनेक किराना व्यापारी भी पत्थर के बांट का उपयोग करने से नहीं चूकते हैं। यदि कोई ग्राहक इनका विरोध करता है तो दुकानदार ग्राहकों से उलझ भी जाते हैं।

इलेक्ट्रानिक कांटों का अभाव, पत्थर से तुलाई

गौरतलब है कि सारंगपुर तहसील अंतर्गत संचालित कई शासकीय उचित मूल्य की दुकान सहित शहर के उपभोक्ता भंडारों पर इलेक्ट्रानिक तौल कांटा तक नहीं है। इससे गरीब उपभोक्ताओं के साथ धोखा होता है। शहर में संचालित उपभोक्ता भंडारों में से कई में अभी भी इलेक्ट्रानिक तौल कांटे के साथ सामान्य कांटों से तुलाई की जा रही है। इसमें भी कई जगह पर पत्थरों के बांट का उपयोग धड़ल्ले से किया जा रहा है। इस ओर न तो खाद्य निरीक्षक का ध्यान है और न ही नापतौल विभाग का।

नापतौल विभाग में अमले की कमी

जिले की सबसे बड़ी विडम्बना यह भी है कि जिलास्तर पर ही नापतौल विभाग का एक मात्र कार्यालय है। वह भी जिला मुख्यालय पर स्थित है। आम उपभोक्ताओं को कोई जानकारी नहीं है। बताया जाता है कि किसी भी तहसील स्तर पर इस विभाग का कोई कार्यालय नहीं है। सारंगपुर के बाजार में विभाग द्वारा खानापूर्ति तक नहीं की जाती है।

अभियान चलाएंगे

सारंगपुर क्षेत्र में जगह-जगह उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिए अभियान चलाया जाएगा। साथ ही समझाइश दी जाएगी कि यदि कोई गड़बड़ी हो रही हो तो वह अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहे। लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि कार्रवाई के नाम पर विभागीय अधिकारी हमेशा पीछे हट जाते हैं उन्हें कार्रवाई करनी चाहिए।

ओपी दुबे, अध्यक्ष, उपभोक्ता हितेषी मंच, सारंगपुर।

Posted By: Nai Dunia News Network