Rahul Gandhi in MP : राजगढ़ (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अंततः भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राजगढ़ जिले की प्रसिद्ध मक्का की राबड़ी (महेरी) का सेवन किया है, इतना ही नहीं उन्होंने पटेल प्रभूलाल दांगी पीपल्या कला से पूछा की क्या जिस मक्के की राबड़ी बनी है वह मक्का इसी खेत की है, ऐसे में दांगी ने कहा हां, इसी खेत की है।

भारत जोड़ो यात्रा रविवार क़ो आगर जिले की सुसनेर विधानसभा में थी। उसी दौरान तय कार्यक्रम के मुताबिक यात्रा पीपल्या कला के पूर्व सरपंच सुरेश कुमार दांगी के सोयत से डेढ़ किमी दूर इस्थित महाकाल होटल पहुंची थी। राहुल गांधी सहित यात्रा में शामिल लोगों के लिए यहा भोजन के इंतजाम किए गए थे। होटल के नजदीक ही राहुल गांधी के कंटेंनर ठहरे थे व वहीं पास में यात्रा में शामिल लोगों के लिए ठहरने व भोजन के इंतजाम साथ चलने वाली टीम के द्वारा की गई थी। ऐसे में तय कार्यक्रम के मुताबिक राहुल गांधी की यात्रा होटल पहुंची, जहां राहुल गांधी होटल पहुंचे व फिर से अपने विश्राम गृह में चले गए। विश्राम गृह में ही फिर होटल में सुरेश दांगी की बुआ लीलाबाई द्वारा बनाई गईं राबड़ी क़ो लेकर पूर्व सरपंच के पिता पटेल प्रभूलाल व पूर्व सरपंच के भांजे लेकर कमलेश दांगी विश्राम गृह पहुंचे थे। जहां उन्हें चीनी के पात्र मेँ मक्का की राबड़ी प्रदान की। ऐसे में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गांधी क़ो मक्का की राबड़ी की खूबी के बारे में बताया। कहा की यह क्षेत्र राजगढ़ जिला ही नहीं बल्कि मालवांचल की प्रसिद्ध मक्का की राबड़ी है, जो छाछ में मक्के का दलिया डालकर बनाई गई है। इसके बाद गांधी ने प्रभूलाल दांगी से पूछा की क्या यह मक्का इसी खेत की है, जिसमे हमारी यात्रा ठहरी हुई है। ऐसे में दांगी बे कहा की हां, साहब यह मक्का इसी खेत की थी, जिससे राबड़ी बनाई है. यह खेत मक्का के लिए ही हमने ऱख रखा है।

राबड़ी के लिए कोटा से बुलवाये थे चीनी के पात्र

खास बात यह है की राहुल गांधी क़ो जिस पात्र मेँ मक्का की राबड़ी खिलाई गई है वह पात्र कोटा राजस्थान से बुलवाये गए थे। सुरेश दांगी ने बताया की हमने 12 पात्र कोटा से बुलवाये थे। हमारे जीजाजी ने झालावडा पहुंचाये थे, वहां से फिर हम लेकर आ गए। यह चीनी के विशेष पात्र है जो इस तरह की सामग्री खाने में राजस्थान में उपयोग किए जाते हैं। स्टील व पीतल के बर्तन में राबड़ी का स्वाद ठीक नहीं रहता, इसलिए यह पात्र हमने राजस्थान से बुलवाए थे।

15 लोगों के लिए बनी थी, जांच टीम ने पहले खाकर देखी

सुरेश दांगी ने बताया की तय कार्यक्रम के मुताबिक 15 लोगो के लिए मक्का की राबड़ी बनी थी. उसके बाद 6 लोगो के लिए विश्राम गृह मेँ पहुंचाई थी. वहां उनकी सुरक्षा एजेंसी ने उसको चेक किया, इसके बाद खाई। वहां प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ सहित अन्य लोगों ने सेवन किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close