ब्यावरा/राजगढ़। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में रविवार दोपहर ब्यावरा में निकाली जा रही रैली में कार्यकर्ताओं को रोकने पर बवाल मच गया। कलेक्टर निधि निवेदिता ने भाजपा के मीडिया प्रभारी रवि बड़ोने को थप्पड़ मार दिया। इससे रैली में शामिल लोग नाराज हो गए और सड़कों पर उतर आए। पुलिस ने पकड़ना शुरू किया तो भगदड़ मच गई। लाठीचार्ज में दो कार्यकर्ता घायल हो गए। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा ने भी एक कार्यकर्ता को पकड़कर दो थप्पड़ जड़ दिए तो एक युवक ने डिप्टी कलेक्टर से अभद्रता कर दी। पुलिस ने धारा 144 का उल्लंघन करने के मामले में 12 नामजद सहित 124 पर धारा 188 का प्रकरण दर्ज किया है। वहीं डिप्टी कलेक्टर से अभद्रता करने के मामल में दो अज्ञात युवकों पर छेड़छाड़ और शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज किया है।

सीएए के समर्थन में निकाली जाने वाली रैली पूर्व नियोजित थी। इसे रोकने के लिए कलेक्टर ने जिले में धारा-144 लगाकर ब्यावरा की सीमाएं सील कर दी थीं, बाजार बंद थे। दोपहर एक बजे वैष्णोदेवी मंदिर से रैली की शुरुआत के लिए सुंदरकांड चल रहा था। कलेक्टर और एसपी प्रदीप शर्मा पुलिस बल के साथ गेट पर मौजूद थे। लोग बाहर निकले तो कलेक्टर निधि निवेदिता ने गेट बंद करना चाहा। पूर्व विधायक अमरसिंह यादव को कलेक्टर ने पकड़ लिया, लेकिन वे छूटकर आगे बढ़ गए। गायत्री मंदिर के पास पुलिस ने लोगों को हिरासत में लेना चाहा, तो पूर्व विधायक मोहन शर्मा सहित अन्य नेताओं की अफसरों से तीखी बहस हो गई। इस दौरान कलेक्टर ने भाजपा मीडिया प्रभारी रवि बड़ोने को थप्पड़ जड़ दिया। बड़ोने का कहना था कि वे कलेक्टर से निवेदन कर रहे थे, लेकिन उन्होंने थप्पड़ मार दिया। वहीं कलेक्टर ने अन्य युवकों को भी थप्पड़ जड़

हमने रैली की अनुमति नहीं दी थी। धारा 144 लगाई थी। जो अराजक तत्व अपनी बात मनवाना चाहते थे, वे यहां आए थे। हमने सोचा कि गेट बंद कर दें, ताकि इन्हें जो करना है अंदर करें। तभी पूर्व विधायक वहां पहुंचे। लोगों को बरगलाना शुरू कर दिया। उन्हें एक तरफ बैठाना चाहा, लेकिन वे मुझसे छूटकर लोगों को साथ लेकर आगे बढ़ गए। कुछ लोगों ने हमारी महिला अधिकारी के साथ भी अभद्रता की है। -निधि निवेदिता, कलेक्टर राजगढ़

कमलनाथ जनता के सामने स्पष्ट करें कि प्रशासन उन्हीं के इशारे पर ब्यावरा में ऐसी बर्बरता दिखा रहा है? यदि ऐसा नहीं है तो कलेक्टर को तुरंत हटाया जाए। - राकेश सिंह, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष

कानून हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है। कानून से बढ़कर कोई नहीं है। हमने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि कानून व्यवस्था किसी भी सूरत में बिगड़नी नहीं चाहिए। - बाला बच्चन, गृहमंत्री

कलेक्टर का इस तरह का रवैया ठीक नहीं है। भीड़ को कंट्रोल करने का यह तरीका गलत है। वरिष्ठ अधिकारियों को भी ऐसे मामलों को गंभीरता से लेना चाहिए। - केएस शर्मा, पूर्व मुख्य सचिव मप्र

भाजपा ने बनाया जांच दल, आज ब्यावरा जाएगा

ब्यावरा में हुई घटना के लिए भाजपा ने एक जांच दल बनाया है। इसमें सांसद, विधायकों समेत पार्टी के पदाधिकारी शामिल हैं। ये सभी सोमवार को ब्यावरा वहां पहुंचकर घटना की संपूर्ण जांच करेंगे और साक्ष्य इकठ्ठा करेंगे।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket