सारंगपुर(नवदुनिया न्यूज)। विकासखंड में जेैसे ही पशुओं में लंपी स्कीन वायरस से पीड़ित संदिग्ध पशुओं निकलने लगे है वैसे ही विकासखंड को जिले से 3 हजार 300 गोट पाक्स वैक्सीन के डोज प्राप्त हो चुके है। उक्त जानकारी देते हुए सारंगपुर एसडीएम आरएम त्रिपाठी ने बताया कि गोवंशीी पशुओं में लंपी वायरस से निपटने के लिए कलेक्टर महोदय के प्रयासों से सारंगपुर विकासखंड में 3 हजार 300 डोज आज प्राप्त हो गई है। हमने पशु चिकित्सा विभाग के विकासखंड अधिकारी डॉ. अमित शाक्य को निर्देशित किया है कि वैक्सीन की डोज क्षेत्र की गोशालाओं और सड़को पर घुम रही गायों को एक स्थान पर एकत्रित करवाकर गोवंशी पशुओं में टीकाकरण का कार्य तेज गति से कराया जाए।

टीकाकरण के बारे में जानकारी सारंगपुर पशु चिकित्सा विकासखंड अधिकारी डॉ. अमित शाक्या ने बताया कि गोट पाक्स वैक्सीन लगाने की शुरूआत गुरुवार शाम से हमनें कपिलेश्वर गोशला में शेष रहे 20 गोवंशीी पशुओं को लगाने से कर दी गई है। क्योंकि वह संचालनकर्ताओं ने पहले ही गायों को निजी तौर पर वैक्सीन मंगवाई थी, जिसको हमारे द्वारा गोवंशीी पशुओं को लगा दिया था। उस समय करीब 20 पशुओं शेष रह थे, उनका टीकाकरण आज किया गया है।

पशु चिकित्सा अधिकारी ने सीएमओं को लिखा पत्र

सारंगपुर को गोट पाक्स वैक्सीन के पर्याप्त डोज प्राप्त होने के बाद गुरुवार को पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. अमित शाक्या ने निराश्रित गोवंशीी पशुओं के टीकाकरण को प्राथमिकता देते हुए सारंगपुर मुख्य नगरपालिका अधिकारी को पत्र लिखा है। उन्होंने लंपी स्किन रोग की रोकथाम हेतु निराश्रित गोवंशी के टीकाकरण को लेकर पत्र में कहा कि सारंगपुर विकासखंड में निराश्रित गोवंशी को लंपी स्किन रोग से रोकथाम हेतु गोट पाक्स वैक्सीन का टीकाकरण होना है इसलिए सारंगपुर नगर के समस्त निराश्रित गोवंशी को एक सुरक्षित स्थान पर रखे। जिससें समय से निराश्रित गोवंशी का टीकाकरण किया जना संभव हो सके।

आज इन गोशालाओं में होगा लंपी से बचाव के लिए गोवंशीी का टीकाकरण

डॉ. शाक्य ने जानकारी देते हुए बताया कि जब तक निराश्रित गोवंशी को एकत्रित किया जाता है तब तक हमारी टीम के द्वारा गोशालाओं में टीकाकरण का कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आज हमारे द्वारा तीन गोशाला जिसमें पहली भैंसवामाता गोशला, दूसरी मऊ गोशाला तथा तीसरी उदनखेड़ी गोशाला में टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को करीब 700 से 800 गोवंशियों को गोट पाक्स वैक्सीन के टीकाकरण का लक्ष्य रखा है। इसके पश्चात बारी-बारी से सभी निजी एवं शासकीय गोशालाओं में टीकाकरण तेज गति से होगा। उल्लेखनीय है कि सारंगपुर विकासखंड की 13 गो-शालाओं है जिसमें 4 निजी एवं 9 शासकीय गोशालाएं है। इन गोशालाओं में 1700 से 1800 गोवंशीी है। इनमें से कपिलेश्वर गोशाला की समस्त गोवंशीी पशुओं का टीकाकरण हो चुका है। जबकि अब भी 12 गोशालाओं तथा सैकड़ो निराश्रित गोवंशियों का टीकाकरण होना है।

हमे आज गोट पाक्स वैक्सीन की पर्याप्त मात्रों में डोज प्राप्त हो चुकी है। सबसे पहले आज हमनें कपिलेश्वर गोशाला में शेष रही गोवंशीी पशुओं का टीकाकरण किया है। शुक्रवार को हमारी टीम मऊ, उदनखेड़ी और भैंसवामाता की गोशाला में टीकाकरण करेगी। निराश्रित गोवंशी का टीकाकरण करने के लिए हमने सारंगपुर सीएमओ को पत्र लिखा है कि एक सुरक्षित स्थान पर गोवंशीी को एकत्रित कराए ताकि सभी का टीकाकरण हो सके।

डॉ. अमित शाक्या, पशु चिकित्सा अधिकारी, सारंगपुर।

हमारे द्वारा वैक्सीन प्राप्त होते ही पशु चिकित्सा विभाग एवं अन्य संबंधितों को निर्देशित किया है कि लंपी स्किन रोग की रोकथाम के लिए निराश्रित एवं गोशाला के गोवंशियों का टीकाकरण किया जाए।

आरएम त्रिपाठी, एसडीएम, सारंगपुर।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close