नगर वासियों ने की पुष्पवर्षा

फोटो केप्शनः

10 बीआरओ 2ः महंत की अंतिम यात्रा में शमिल सैकड़ों लोग फोटोःनवदुनिया

10 बीआरओ 3ः महंत की अंतिम यात्रा में शमिल सैकड़ों लोग फोटोःनवदुनिया

ब्यावरा। वैष्णव दिगंबर अखाड़े के महंत एवं नृसिंह गोशाला के अध्यक्ष श्री श्री 108 राधामोहनदास शास्त्री के ब्रह्मलीन होने पर रविवार सुबह 10 बजे नृसिंह बीड़ मंदिर से उनकी अंतिम दर्शन यात्रा निकाली गई। संत के अंतिम दर्शन करने हजारों की संख्या में भीड़ उमड़ी। सुबह के समय बाजार बंद रहे। दर्शन यात्रा में नगर के सभी वर्गों के नागरिक शामिल हुए। बैंड बाजों के बीच भजन कीर्तन, शंख के साथ निकाली गई अंतिम दर्शन यात्रा के दौरान हजारों लोगों ने उनके दर्शन कर पुष्प वर्षा की। पुष्पमाला अर्पण कर ईश्वर से उनके मोक्ष की प्रार्थना भी की। मुख्य मार्गों और चौराहों से जब दर्शन यात्रा आगे बढ़ी तो पुरुषों के अतिरिक्त महिलाएं भी बड़ी संख्या में शामिल हुई। सभी ने उनको अंतिम विदाई दी। महंत राधामोहनदास शास्त्री ब्रह्मलीन सिद्ध संत बालकदास महाराज के शिष्य थे, जिनका हृदयघात से शनिवार को निधन हो गया था। दर्शन यात्रा बीड़ मंदिर से जैसे ही निकली पूरा वातावरण जयकारों से गूंज उठा। श्री राम जय राम जय-जय राम के स्वर चारों तरफ से सुनाई देने लगे। संतों और पंडितों की उपस्थिति में पूरे विधि विधान के साथ उनका अग्नि संस्कार संपन्न कराया गया। मुखाग्नि महंत प्रेमदास ने दी। अब महंत प्रेमदास जी ही दिवंगत महंत के उत्तराधिकारी होंगे। इस मौके पर सभी राजनीतिक दलों सहित धार्मिक, समाजसेवी संगठनों के लोग मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस