ब्यावरा। जीएसटी नियमों के सरलीकरण को लेकर व्यापारिक संगठन केट द्वारा शुक्रवार को भारत बंद का आह्वान किया गया था, जिसका असर स्वर्स्फूत रहा। सुबह से ही शहर के अधिकांश प्रतिष्ठान नहीं खुले। केट के सदस्यगण बाजार में घूमते नजर आए और जो दुकानें खुली हुई थी, उनसे प्रतिष्ठान बंद रखने की अपील की। बंद के दौरान शहर के बाजार सूने नजर आए और सड़कों पर भी भीड़ कम रही । मंडी बंद रहने से भी अधिकांश ग्रामीण ब्यावरा नहीं पहुंचे। कुल मिलाकर जीएसटी के वर्तमान स्वरूप के विरोध में बंद का आह्वान सफल रहा। केट के जिलाध्यक्ष रमेश चंद्र जैन, सदस्य गोपाल टाटा, गिरिराज करोड़िया, दिलीप गुप्ता आदि ने बताया कि बंद का आह्वान देशव्यापी था, और इसके पीछे जीएसटी के वर्तमान स्वरूप का सरलीकरण किया जाना प्रमुख था। संगठन फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (केट) के मुताबिक केंद्र सरकार व राज्य सरकारों और जीएसटी परिषद से माल एवं सेवा कर जीएसटी के कठोर प्रावधानों को समाप्त करने तथा जीएसटी व्यवस्था को सरल और युक्ति संगत बनाने के लिए कर प्रणाली तथा कर स्लैब की समीक्षा की मांग की गयी है।

एसडीएम को सौंपा ज्ञापनः बंद के दौरान व्यापारियों ने प्रधनमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा । ज्ञापन में मांग की गयी कि जीएसटी कराधान प्रणाली में मौजूद विसंगतियों को दूर किया जाए व ई-कामर्स से छोटे व्यापारी नुकसान उठा रहे है उस पर लगाम कसी जाए। ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि जीएसटी में अब तक 937 संशोधन हो चुके हैं, लेकिन इसके बाद भी यह प्रणाली बेहद पेचीदा है। ज्ञापन सौंपने वालों में व्यापारी ओम गुप्ता, गोपाल बादशाह रवि अग्रवाल, सुरजीत सिंह, रामबाबू गुप्ता सहित अनेक व्यापारी उपस्थित थे। संगठन ने बंद को सफल बनाने के लिए सभी व्यवसायियों व दुकानदारों का आभार व्यक्त किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags