राजगढ़। अवैध कॉलोनियों के खिलाफ सरकार द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। इसी के तहत जिले के नरसिंहगढ़ में भी बिना परमिशन के कॉलोनी काटते हुए विक्रय कर दिया गया। ऐसे में जांच के बाद खामियां सामने आने पर प्रशासन ने कांग्रेस के पूर्व विधायक गिरीश भंडारी के खिलाफ मप्र नगर पालिका अधिनियम 1961 की धारा 339 सी 3 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया गया है।

करीब चार माह पहले जिले में अवैध कॉलोनियों के खिलाफ जिला प्रशासन द्वारा अभियान शुरू किया गया था। ऐसे में जो कॉलोनियां काटी जा रही थी उनकी जांच व दस्तावेज प्रशासन द्वारा बुलवाए गए थे। उसी समय कुरावर, ब्यावरा, राजग़ढ व सारंगपुर मेंकई कॉलोनाइजरों पर प्रकरण भी दर्ज किए गए थे। इसके अलावा भी अन्य कॉलोनियों की जांच चल रही थी। इसी के तहत नरसिंहगढ़ के बाराद्वारी क्षेत्र में सर्वे क्रमांक 38-1-3,38-2 पर काटी जा रही कॉलोनी की जांच की गई। नगरीय क्षेत्र की कॉलोनी होने के चलते इसकी जांच नरसिंहगढ़ एसडीएम द्वारा करवाते हुए प्रकरण कलेक्टर न्यायालय भेजा गया। तत्कालीन समय जांच के दौरान यह सामने आया था कि श्री भंडारी द्वारा जो कॉलोनी काटी जा रही है उसकी परमिशन ही नहीं ली गई है। परमिशन लिए बगैर ही करीब चार लोगों को प्लाटों का विक्रय कर दिया गया है। कुल मिलाकर बिना परमिशन के ही कॉलोनी काटने के साथ प्लाटों का विक्रय करने पर मामले को राजग़ढ भेजा गया। राजग़ढ में कलेक्टर न्यायालय में मामले की सुनवाई चली। इसके बाद कलेक्टर न्यायालय से तहसीलदार नरसिंहगढ़ को प्रकरण दर्ज करवाने के लिए आदेश जारी किए गए। इसके बाद तहसीलदार प्रकाशाचंद्र पांडेय की शिकायत पर पुलिस ने नरसिंहगढ़ से कांग्रेस के पूर्व विधायक रहे गिरीश भंडारी निवासी नरसिंहगढ़ के खिलाफ नगर पालिका अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है।

जिस समय मैंने जांच की थी उस समय सामने आया था कि कॉलोनी की परमिशन नहीं है। बिना परमिशन के ही कालोनी काटते हुए करीब चार प्लांटों का विक्रय किया गया था। यह मामला राजग़ढ में चल रहा था। वहीं से कार्रवाई के लिए आदेश हुआ होगा।

अमन वैष्णव, एसडीएम नरसिंहगढ़

मामला कलेक्टर न्यायालय में चल रहा था। वहां सेएफआइआर कराने के निर्देश मिले थे, इसलिए एफआइआर कराई गई है।

प्रकाशचंद्र पांडेय, तहसीलदार नरसिंहगढ़

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local