ब्यावरा(राजगढ़)। ब्यावरा सिटी पुलिस ने गुरुवार को मातामंड क्षेत्र में 11 सटोरियों को गिरफ्तार किया। इस दौरान दो आरोपित भाग गए। पुलिस ने मौके से लेकर थाने तक इन सटोरियों का जुलूस निकाला और उनसे नारे लगवाए 'सट्टा खेलना पाप है, पुलिस हमारी बाप है"। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

पुलिस ने खाईबाज फुरकान खां के घर दबिश दी

सिटी थाना प्रभारी डीपी लोहिया के मुताबिक खाईबाज फुरकान खां के घर दबिश देकर वहां से 11 आरोपितों को गिरफ्तार किया। इस दौरान फुरकान और तौफीक भाग गए।

4250 रुपए कैश और 3 लाख 20 हजार 520 रुपए की सट्टा पर्चियां जब्त

मौके से 4250 रुपए कैश और 3 लाख 20 हजार 520 रुपए की सट्टा पर्चियां जब्त की हैं। आरोपितों में बसंत धनगर, राधेश्याम भिलाला, योगेश उर्फ डाकू, भारत सिंह राजपूत, रामबावू कुशवाह, मुस्सू उर्फ मुशर्रफ खां, पंकज राजपूत, विनोद, नवीन शर्मा, अताउल्ला खां, घनश्याम सोनी के विरुद्ध 3/4 सार्वजनिक द्यूत क्रीड़ा अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है।

नारे इसलिए लगवाए हैं, ताकि लोगों को सीख मिले

उन्होंने बताया कि आरोपितों से नारे इसलिए लगवाए हैं, ताकि लोगों को सीख मिले कि सट्टा एक अनैतिक कृत्य है। इसके माध्यम से समाज और परिवार के बीच बिखराव हो रहा है।

सटोरियों के विरूद्ध कार्यवाही के निर्देश

उल्‍लेखनीय है कि जिला पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा ने जिले के समस्त थाना प्रभारियों को सटोरियों के विरूद्ध कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया है। जिसके पालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजगढ़ नवलसिंह सिसौदिया के निर्देशन में व एसडीओपी ब्यावरा के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी ब्यावरा(शहर) डी0पी0 लोहिया के नेतृत्व में यह कार्रवाई की गई।

पुलिस की इस कार्रवाई की मुक्‍त कंठ से प्रशंसा की जा रही है। लोगों का कहना है कि इस तरह के अपराधों पर सख्‍ती से अंकुश लगाया ही जाना चाहिये। वहीं इस कार्रवाई के बाद ऐसे अपराधों में लिप्‍त बदमाशों में पुलिस का खौफ है।