Rajgarh News: राजगढ़ (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में खाद का संकट खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार किसान खाद के लिए परेशान होते नजर आ रहे हैं। जैसे जैसे किसानों द्वारा रबी की फ़सल की बोवनी की है, उसी के साथ अब यूरिया खाद की मांग लगातार बढ़ने लगी है। इसी के तहत गुरुवार को खीमाखेड़ी केंद्र पर किसानों को खाद नहीं मिला तो उन्होंने हाईवे जाम कर दिया था। बाद में एसडीएम जूही गर्ग ने मौके पर पहुंचकर जाम खुलवाया व आगे के लिए टोकन बंटवाए।

खाद की कमी से परेशान किसान

रबी की फसल के रूप में किसानों द्वारा इन दिनों गेहूं, चना, सरसो, मसूर व धनिया आदि की बोवनी कर दी है। ऐसे में बोवनी के बाद अब गेहूं की उपज में सर्वाधिक रूप से यूरिया खाद की जरूरत लग रही है। ऐसे में जरूरत के मुताबिक किसान खाद लेने के लिए राजगढ़-ब्यावरा के बीच में स्थित खीमाखेड़ी केंद्र पर पहुंचे थे। जहां किसान खाद के लिए लाइन में लगकर सुबह से ही अपनी बारी आने का इंतजार कर रहे थे। इसी बीच दोपहर में देखते ही देखते खाद खत्म हो गया। खाद खत्म होने के साथ ही किसान हंगामा करने लगे। हंगामा करते हुए किसानों जयपुर-जबलपुर हाईवे पर चककाजाम करदिया। सैंक़डों किसानों ने सड़क पर वाहनों को रोकते हुए आवागमन बंद कर दिया था। जिसके कारण दोनों साइड वाहनों की लंबी कतारें लगगई थी। सूचना पर तत्काल राजगढ़ एसडीएम जूही गर्ग पहुंची। उन्होंने किसानों से बात करते हुए उन्हें समझाया व जाम खुलवाया। तब जाकर यातायात बहाल हो सका।

एसडीएम ने बंटवाए टोकन

खाद खत्म होने के बाद पूरे दिन खाद का इंतजाम नहीं हो सका। ऐसे में एसडीएम जूही गर्ग ने मौके पर उपस्थित होकर खाद के टोकन बंटवाए। डबल लाक केंद्र व मौके पर मौजूद निजी वितरण केंद्रों के काउंटर संचालकों से भी किसानों कोटोकन दिलवाए गए। किसानों को आश्वस्तकिया कि जब भी खाद आएगा आपको ही सबसे पहले दिया जाएगा। निजी वितरण केकाउंटर संचाकलों नेकिसानों से कहा कि खाद आने पर हमारे गोदामों पर पहुंचकर खाद ले सकते हैं।

विधायक ने प्रशासन पर लगाया आरोप

लगातार खाद संकट व किसानों के विरोध को लेकर राजगढ़ विधायक बापूसिंह तंवर ने आरोप लगाए हैं कि खाद का टोटा बना हुआ है और प्रशासन पर्याप्त खाद होने का झूंठा दावा करने से पीछे नहीं है। सिर्फ-और सिर्फ हर दिन यह झूंठ प्रसारित किया जा रहा हैकि जिले में पर्याप्त खाद है। खाद का संकट नहीं है। यदि पर्याप्त खाद है तो फिर किसानों को दे क्यों नहीं रहे हो।पर्याप्त खाद है तो फिर किसानों को परेशान करने के लिए नहीं दे रहे हैं क्या। सरकार किसानों को खाद उपलब्ध कराने में बुरी तरह फेल हो रही है।

4 दिन से नहीं लगी रैक, और दो दिन संभावना नहीं

जिले में अभी तक पिछले चार दिन से खाद की कोई रैक नहीं लगी है। 9 नवंबर को ब्यावरा व पचोर रेलवे पाइंट पर आधी-आधी रैक लगाई गई थी। इसके बाद से 22 नवंबर तक कोईरैक नहीं लगी। आने वाले दो दिन भी रैक लगने की संभावना कम है। हालांकि अधिकारी फिलहाल 5 हजार टन यूरिया जिले में अलग-अलग स्थानों पर स्टाक होने की बात कह रहे हैं। उधर अब जब बोवनी का कार्य पूर्ण हो चुका है तो जैसे ही फसल 15 से 20 दिन की होगी उसी के साथ एक साथ बड़ी मात्रा में यूरिया खाद की जरूरत लगना तय है।

इनका कहना है

खाद खत्म होने के चलते किसानों ने जाम लगाया था, लेकिन तब तक मैं मौके पर पहुंच चुकी थी। किसानों को समझाइश के बाद जाम खुल गया था। किसानों को टोकन बंटवाए हैं। खाद आने पर सबसे पहले उन्हें ही खाद उपलब्ध करवाया जाएगा।

- जूही गर्ग, एसडीएम राजगढ़

Jabalpur News : जिम्मेदारों की लापरवाही से सड़ गया छह हजार क्विंटल से अधिक गेहूं-धान

बॉडी बनाने के लिए दे दिया घोड़े का इंजेक्शन, फि‍र हुआ ऐसा, प्रोटीन दुकान संचालक पर केस

Jagdalpur News: नशे में डाक्टर करते थे पीछा, पूछते थे- घर छोड़ दूं, दो नर्सों ने लिया दवाओं का हाइडोज

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close