Rajgarh News: सारंगपुर(नवदुनिया न्यूज)। मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के बिजली उपभोक्ताओं के लिए अच्छी खबर है। अब बिजली उपभोक्ताओं को कंपनी द्वारा रीडिंग लेते ही बिल जनरेट होने के तुरंत बाद ही मोबाइल पर एसएमएस के साथ वाट्सएप पर भी बिजली बिल प्राप्त होंगे। कंपनी ने नवंबर से ये सुविधा प्रदान करना शुरू कर दिया है। कंपनी कार्यक्षेत्र में हजारों बिजली उपभोक्ताओं को वाट्सऐप पर बिजली बिल उपलब्ध कराए जाएंगे।

उपभोक्ताओं के लिए बड़ी सुविधा

कंपनी कार्यक्षेत्र में सभी श्रेणी के बिजली उपभोक्ताओं के लिए सुविधा लागू की जाएगी। कंपनी के सहायक यंत्री अरविंद रानोलिया का कहना है कि बिल को हर माध्यम से उपभोक्ता तक पहुंचाया जा रहा है, ताकि समय पर भुगतान कर असुविधा से बच सकें। मुझे इस सुविधा के बारे में जानकारी मिली है लेकिन इसकी विस्तृत जानकारी लेता हूं लेकिन इससे निश्चित ही बिल नहीं मिलने की दि-त भी दूर होगी। कंपनी कई नवाचार बिजली क्षेत्र में कर रही है, ताकि उपभोक्ताओं को आसानी हो।

बेहतर सेवा के प्रयास

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी कार्यक्षेत्र में आईटी के अनुप्रयोग लागू करने के साथ कई नए काम किए जा रहे है, जिससे कंपनी की कार्यक्षमता बढने के साथ उपभोक्ताओं के संतोष में भी वृद्धि हुई है। कंपनी के सहायक यंत्री अरविंद रानोलिया ने उपभोक्ताओं को आश्वस्त किया है कि मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी उपभोक्ताओं को बेहतर सेवाएं देने के लिए कृत-संकल्पित है और उपभोक्ताओं की सुविधाओं के विस्तार के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं।

उपभोक्ताओं को फायदा मिलेगा

पेपरलेस स्पॉट बिजली बिल उपभोक्ताओं के लिए एक फायदेमंद योजना है। इसमें उपभोक्ताओं को तुरंत रीडिंग लेते ही बिजली बिल तो मिलेगा ही, उसे सरकारी योजना का लाभ मिलने में भी आसानी होगी। इसके साथ उपभोक्ता चाहे तो बिजली बिल बेहद आसानी से आनलाइन मोबाइल से जमा कर सकते हैं, जिसके लिंक भी मैसेज के साथ ही दी जा रही है।

ऐसे जमा करें आनलाइन बिल

सहायक यंत्री रानोलिया ने बताया कि बिजली का बिल आनलाइन चेक करने के लिए आप जिस बिजली कंपनी से बिजली लेते हैं उस आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर चेक करें। वेबसाइट पर चेक करने से ये फायदा है कि वहां वैसे ही बिजली बिल बताया जाएगा जैसा घर पर आता है। वेबसाइट से आप अपने बिजली के बिल को डाउनलोड कर सकते हैं और उसका प्रिंट भी निकाल सकते हैं। साथ ही अगर पुरानी बिजली बिल बचा हुआ है तो वो भी देख सकते हैं। अगर आप बिल जमा करना चाहते हैं कि पेटीएम, गूगल पे, फोन पे, नेट बैंकिग किसी भी माध्यम से बिल को जमा कर सकते हैं।

भोपाल की हरियाली पर ग्रहण, दो-तिहाई क्षेत्र अवैध कटाई से प्रभावित, 13 प्रतिशत पर अतिक्रमण

C M Visit dindori : मुख्यमंत्री ने एक माह के बालक का नामकरण किया पेसा

Dindori News : कांग्रेस ने 50 साल से अधिक शासन किया, लेकिन आदिवासियों को अधिकार नहीं दिए : श‍िवराज

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close