सारंगपुर(नवदुनिया न्यूज)। 'स्वच्छ सारंगपुर-सुंदर सारंगपुर' के संदेश को चरितार्थ करने के लिए नगर पालिका प्रयत्नशील है। नगर में घर-घर से कचरा एकत्रित किया जा रहा है। सूअरो को पकड़ने की मुहिम भी पहले चलाई गई, लेकिन नगर में घूमते सूअरों से मुक्ति नहीं मिल पा रही है। जबकि नपा प्रशासन ने पूर्व में कई बार सूअर मालिकों की बैठक बुलाकर सूअरों को बाड़े में बंद करके रखने और शहर से बाहर करने की बात कही थी, लेकिन इस बात पर अब तक अमल नहीं किया गया है।

गौरतलब है कि वर्षो से सारंगपुर को स्वच्छ शहर बनाने के लिए नगर पालिका द्वारा स्वच्छता अभियान पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है कचरा प्रबंधन समिति के सहयोग से रोजाना कचरा वाहनों से घर-घर से कचरा एकत्रित भी किया जा रहा है। गत दिनों नगर पालिका द्वारा सूअरो को पकड़ने की मुहिम भी चलाई गई, लेकिन नगर में खुले घूमते या गुमटियों की आड़ में आराम फरमाते सूअरों से मुक्ति नहीं मिल पा रही है। इनसे नगरवासी त्रस्त होने के साथ स्वच्छता के लिए किए जा रहे प्रयासों में बाधक बन रहे हैं। नगर में घूमते सूअर सफाई व्यवस्था को लेकर चुनौती देते हुए स्वच्छता मुहिम को मुंह चिढ़ाते नजर आ रहे हैं।

सड़कों पर गायों व अन्य पशुओं के जमावड़े के कारण लोगों का चलना हुआ दूभर

शहर की सड़कों सहित बस स्टैंड एवं बस स्टैंड पीछे का क्षेत्र इन दिनों आवारा मवेशियों के हवाले है। मच्छर-मक्खियों से परेशान गायें बरसात के दिनों में शाम होते ही सूखी जगह की तलाश में शहर की कॉलोनी ओर रुख करने लगती है। रात को शहर की सड़को पर इनका जमघट लग जाता है। सड़को पर रात के अंधेरे में समूह में गोवंश दिखाई नहीं देता है। पशुओं के यह झुंड दुपहिया वाहन चालकों के लिए सबसे बडा खतरा है। थोडी सी चूक उनके लिए जानलेवा साबित हो जाती है। अब वर्षा आने के बाद एक बार फिर से सड़कों पर गायों का झुंड नजर आने लगा है। आए दिन गायों के झुंड बीच सड़क में लडते हुए नजर आते है। इससे सबसे ज्यादा खतरा वाहन चालकों व दुकानदारों को होता है।

हादसों की आशंका

वर्षा के कारण पशुओं को मक्खियों के काटने की परेशानी के चलते खेतों में बैठने वाले पशु भी इन दिनों सूखी सड़कों पर बैठने लगते हैं। शहर में दर्जनों की संख्या में सूअर, बैल, गाय बैठे नजर आ रहे हैं। इन पशुओं के चलते पहले भी कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। आने वाले दिनों में भी दुर्घटनाओं की आशंका बनी हुई है।

शहर की सड़कों पर रहती हैं दर्जनों गाय

शहर की सड़कों पर सैकड़ो मवेशी विचरण कर रहे है, जिनके न रहने का ठिकाना है, न खाने-पीने का इंतजाम है। शहर के हर वार्ड में कई गाय झुंड में घूम रही हैं, जो खाने की तलाश में सड़कों, गलियों में भटकती रहती है। हर सड़क पर इसी वजह से जाम लगता है। सड़क के किनारे और सड़क पर बैठी गायों को बचाने के प्रयास में सड़क दुर्घटना होती हैं। रात के समय सड़क पर बैठे गोवंश बड़ी सड़ दुर्घटनाओं की वजह बन रहे हैं।

गांवों से भी भगा दिया जाता है

वर्षा के दिनों में गांवों में कीचड़ फैल जाता है। जंगल में चरने के लिए जाए तो वहां भी मच्छर व मक्खियों के कारण पशु खड़े नहीं रह पाते। खेतों के पास फसलों की सुरक्षा करने के चलते किसान आवारा पशुओं को पास भी नहीं फटकने देते। पशुओं को एक गांव से दूसरे गांव हांक दिया जाता है। ऐसी स्थिति में सूखी जगह की तलाश में शहर में आ जाते हैं।

इन जगह गायों का झुंड

शहर के बस स्टैंड, हायर सेकंडरी ग्राउंड, पुराना बस स्टैंड, एसडीएम चौराहा, अस्पताल रोड, गांधी चौक, किड़ी रोड आदि स्थानों पर गायों का झुंड सड़कों के बीचों-बीच नजर आता है। स्वच्छता एवं गायो, सूअरो के झुंड से मुक्ति के लिए नवदुनिया के द्वारा सारंगपुर सीएमओ पवन मिश्रा से दूरभाष पर संपर्क करने के प्रयास किए, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

शहर की सड़कों पर झुंड में बैठी गायों, सूअरो से मुक्ति दिलाने के लिए तथा स्वच्छता अभियान को कारगर तरीके से चलाने के लिए नपा अमले को निर्देशित किया जाएगा।

आरएम त्रिपाठी, एसडीएम, सारंगपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close