राजगढ़। जिला अस्पताल में भर्ती मरीज एवं उनके अटेंडरों का गुस्सा उस समय फूट पड़ा जब उन्हें उनके सामने विधायक बापूसिंह तंवर नजर आए। जैसे ही विधायक श्री तंवर मरीजों के सामने पहुंचे तो उन्होंने जिला अस्पताल की गड़बड़ियों को लेकर विधायक से शिकायत की। उन्होंने कहा कि यहां पर बेवजह सामान्य मरीजों को भी रेफर कर दिया जाता है। जिन्हें रेफर करते हैं उनकी नार्मल डिलेवरी निजी अस्पताल में हो जाती है।

शुक्रवार को विधायक श्री तंवर बेटी बचाओ कार्यक्रम के तहत सामग्री वितरण करने के लिए जिला अस्पताल पहुंचे थे। जैसे ही विधायक वहं पहुंचे तो उन्हें देखकर अस्पताल में मौजूद मरीज एवं समीप में ही निजी अस्पताल में भर्ती मरीजों के अटैण्डर वहां पहुंच गए। वहां पहुंचने के साथ ही एक मरीजों के परिजनों ने अस्पताल में लापरवाही बरतने के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि यहां पर मरीजों पर ध्यान नहीं दिया जाता है, बल्कि रेफर करने में डॉक्टर भरोसा रखते हैं। एक मरीज के परीजनों ने आरोप लगाए कि वह कल ही डिलीवरी के लिए पैसेंट को लाए थे। लेकिन यहां पर डिलीवरी करने की बजाए उसे गंभीर बताते हुए रेफर कर दिया। इसके बाद वह समीप ही स्थित निजी अस्पताल में ले गए, जहां महज 12 हजार रूपए जमा कराने के बाद सामान्य डिलीवरी कराई गई। मरीजों एवं परिजनों की बात सुनने के बाद विधायक ने सिविल सर्जन् सहित मौके पर मौजूद अमले को फटकरा लगाई और कहा कि लापरवाही न बरती जाए। हालांकि स्टाफ ने स्टाफ की समस्या बताई।

पीएस से की बात, कहा डॉक्टर भेजे

मरीजों की शिकायत के बाद विधायक श्री तंवर ने स्वास्थ्य विभाग के पीएस से फोन पर बात की। उन्होंने कहा कि अभी तक मैं राजगढ़ के लिए 22 डॉक्टरों के ट्रांसफर करा चुका हूं, लेकिन एक भी नहीं आया। आखिर ऐसा क्यों हो रहा है। राजगढ़ के लिए हर हाल में डॉक्टर भेजे जाएं, ताकि मरीज परेशान न हो।

फोटो 1511 आरएजे 17 राजगढ़। विधायक पहुंचे अस्पताल, मरीजों ने की शिकायत।

Posted By: Nai Dunia News Network