आष्टा। शनिवार को आष्टा पहुंची आरपीएफ पुलिस रेलवे सीहोर ने नगर के ओम शांति मार्ग पर रहने वाले एक सराफा व्यापारी के यहा स्वर्ण आभूषण बनाने का कार्य करने वाले एक बंगाली कारीगर से कई घंटों तक की पूछताछ। उक्त पुलिस कारीगर को अपने साथ लेकर गई है, क्योंकि इस व्यक्ति ने अनेक लोगों के रेलवे टिकट पश्चिम बंगाल के बनवाए थे।

आरपीएफ पुलिस इस बंगाली कारीगर प्रशांत को अपने साथ सीहोर ले गई। जानकारी अनुसार इस बंगाली कारीगर बिना लाइसेंस के अपने मोबाइल से रेलवे टिकिट बुक करने का कार्य कर उसके बदले यात्रियों से निश्चित से अधिक राशि वसूल रहा था। एक ही नम्बर से एक ही प्रांत पश्चिम बंगाल के टिकिट बुक करने के कारण ये नंबर रेलवे पुलिस की निगाह के साथ जांच में था। रविवार को दोपहर में आष्टा पहुंचे आरपीएफ थाना पुलिस ने ओम शांति मार्ग की जानकारी प्राप्त की। ओम शांति मार्ग पर रहने वाले एक सराफा व्यापारी के यहां कार्य करने वाले स्वर्ण आभूषण बनाने वाले कारीगर को रेलवे पुलिस ने खोजा। कई घंटों तक इससे पूछताछ की। बाद में रात्रि में पुलिस इसे अपने साथ सीहोर ले गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ महीनों से उक्त बंगाली कारीगर अपने एक मोबाइल नंबर के माध्यम से कई लोगों के बंगाल प्रांत से जाने-आने की टिकट बुकिंग किए थे। लगातार इस नंबर से बंगाल प्रांत के टिकट बुक होने को लेकर आरपीएफ पुलिस इसकी खोजबीन में जुटी थी। खोजबीन करते-करते आज आष्टा पहुंची पुलिस ने एक बंगाली कारीगर जिसका नाम प्रशांत बताया गया है तथा यह नगर के ओम शांति मार्ग पर रहने वाले एक सराफा व्यापारी के प्रतिष्ठान पर स्वर्ण आभूषण बनाने का कार्य करता है। इस बंगाली कारीगर से आज आरपीएफ पुलिस ने कई घंटों तक पूछताछ की है। कुछ दिनों से ये कारीगर पुलिस को गलत जानकारी दे रहा था, फिर मोबाइल बन्द कर लिया, इससे ये ओर ज्यादा शंका में आ गया। लोकेशन ट्रेस कर आज रेलवे पुलिस आष्टा पहुंची ओर इसे अपने साथ ले गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local