पड़ाना(नवदुनिया न्यूज)। 15 सितंबर यानी इंजीनियर डे उन लोगों को समर्पित है, जिन लोगों ने तकनीक के जरिये विकास को और गति दी है।उक्त उद्गार ग्राम पंचायत पड़ाना में इंजीनियर डे पर आयोजित उपयंत्रियों के सम्मान समारोह में स्वागत करते हुए समिति प्रधान प्रतिनिधि यशवंत माली ने व्यक्त किए। इस मौके पर सचिव शिवराजसिंह राठौड़ ने कहा कि महान अभियंता श्री विश्वेश्वरैयाजी ने ही आधुनिक भारत की रचना कर देश को एक नया रुप दिया है, जिसे शायद ही कोई भुला पाएं। ये दिन देश के इंजीनियरों के प्रति सम्मान और उनके कार्य की सराहना के लिए मनाया जाता है। मनरेगा एसडीओ कृपाल पारेवाल, उपयंत्री पंकज पूर्बिया एवं हेमंतपुरी का स्वागत किया। रोजगार सहायक रामबाबू गुर्जर ने कहा कि तकनीक के विकास का दिन इंजीनियर्स डे है। महान अभियंता और भारत रत्न एम विश्वेश्वरैयाजी जिनकी याद में यह दिन हम मना रहे है। उन्होंने देश के कई नदियों के बांध और पुल को कामयाब व मजबूत बनाने के पीछे बहुत बड़ा हाथ है। उन्होंने बढ़ती पानी की समस्या को भी दूर करने का प्रयास किया था। डॉ. मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया ने एक इंजीनियर के रूप में देश में कई बांध को निर्माण करवाया है। इनमें मैसूर में कृष्णराज सागर बांध, ग्वालियर में तिगरा बांध और पुणे के खडकवासला जलाशय में बांध आदि काफी खास हैं। इसके अलावा हैदराबाद सिटी को बनाने का श्रेय भी डॉ. विश्वेश्वरैया को ही जाता है। उन्होंने विकास के लिए कई ऐसे कार्य किये हैं, जिन्हें शायद कभी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने एक बाढ़ सुरक्षा सिस्टम को विकसित किया था, इसके साथ ही समुद्र कटाव से विशाखापत्तनम बंदरगाह की सुरक्षा के लिए खास योजना बनाई थी। उनके योगदान को देश कभी भुल नहीं सकता है उनहें हम सलाम करते है। स्वागत करने वालो में प्रधान प्रतिनिधि यशवंत माली, सचिव शिवराजसिंह राठौड़, रोजगार सहायक रामबाबू गुर्जर, भाजपा नगर अध्यक्ष अनिल सोनी, स्वच्छता अभियान के ब्लॅक समन्वयक मनोज रंगडाले आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local