सारंगपुर(नवदुनिया न्यूज)। शनिवार को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व आरएम त्रिपाठी एवं तहसीलदार सौरभ वर्मा के द्वारा तहसील कांफ्रेंस हाल में पटवारियों की बैठक ली। बैठक में 6 बिंदुओं पर समीक्षा की गई एवं निर्देश दिए गए। इस दौरान बैठक में शासन द्वारा 1 नंबर से 15 नवंबर तक अभिलेख शुद्घिकरण पखवाड़ा मनाए जाने के निर्देश दिए है। इस संबंध में सभी पटवारियों को सोमवार को ग्राम वार शिविर लगातार लगाकर रिकॉर्ड शुद्घिकरण के आवेदन प्राप्त करने के निर्देश दिए गए। एसडीएम आरएम त्रिपाठी ने कहा कि पटवारी शासन के दिशा-निर्देशों का पालन करे। समस्त गांव में पहुंचकर खसरा-खतौनी के वाचन एवं अशुद्घिओं के चिन्हाकांन हेतु कार्य करेंगे। भू-अभिलेख (रिकार्ड) के शुद्घिकरण हेतु पखवाडा मनाया जा रहा है। उक्त शुद्घिकरण पखवाडे के दौरान भू-अभिलेख में विद्यमान अशुद्वियों, प्रचलित नाम के अभिलेख में दर्ज होने, राजस्व अभिलेख एवं आधार में अंकित नाम में भिन्नाता इन्द्राज होने तथा ऐसी ही अन्य त्रुटियों में सुधार किया जाये। तहसीलदार सौरभ वर्मा ने कहा कि राजस्व अभिलेखों के शुद्घ न होने के कारण नागरिकों को विभिन्ना प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जैसे शासन की योजनाओं पीएम किसान, फसल बीमा योजना आदि का लाभ प्राप्त नहीं हो पाना, बैंक से ऋण प्राप्त करने में समस्या, नामांतरण एवं बंटवारा प्रकरणों में कार्य करने में भी क्षेत्रीय कर्मचारियों को कठिनाई होती है। भू-अभिलेख में उपलब्ध असमानताओं एवं रिकार्ड की त्रुटियों को ठीक होने हेतु भू-अभिलेख (रिकार्ड) शुद्घिकरण का आयोजन किया जा रहा है।

इन बिंदुओं पर भी दिये समीक्षा के दौरान निर्देश

तहसीलदार सौरभ वर्मा ने समीक्षा बैठक के द्वारा कहा कि भू-राजस्व वसूली कुल 140 ग्रामो में से 96 ग्रामो के चालान जमा हो चुके है। शेष 44 ग्रामो के चालान सितंबर माह में ही जमा कराए। उन्होंने कहा कि हेल्पलाइन व जनसुनवाई में प्राप्त शिकायतों के समय सीमा में संतुष्टिपूर्ण निराकरण होना चाहिये। पीएम किसान अपात्र कृषको से शेष रह गए कृषको से सब कलेक्ट के माध्यम से 100 फीसद वसूली की जाए। एसडीएम आरएम त्रिपाठी ने पटवारियों को निर्देशित किया गया। डायवर्सन राशि वसूली में जिन निजी विद्यालयों द्वारा डायवर्सन राशि जमा नही की गई है उनके चल अचल संपत्ति की जानकारी एकत्र कर कुर्की की कार्रवाई प्रचलित की जानी है, साथ ही ऐसे विद्यालयों की मान्यता रद्द करने के लिए पत्राचार किया जाए। एसडीएम त्रिपाठी ने न्यायालयीन प्रकरणों में रिपोर्ट समय सीमा में लगाने के आदेश पटवारियों को दिये। इस दौरान पटवारी संघ ब्लॉक अध्यक्ष मनीष सक्सेना, अतुल सक्सेना, शहजाद मंसूरी, रामकरण कीर, रामबाबू देशवाली, हेमराज राजपूत, योगेश सक्सेना, राधेश्याम भिलाला सहित अन्य पटवारी मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local