सारंगपुर(नवदुनिया न्यूज)। मप्रमक्षेविवि कंपनी में तैनात आउटसोर्स बिजली कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहे है। ऊर्जा मंत्री ने उनकी मांगों को पूरा करने के लिए आश्वासन दिया था लेकिन तय समय पर मांग पूरी नहीं करने पर कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला लिया। सोमवार को बिजली आउटसोर्स कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल करने को लेकर विद्युत अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा। आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की बिजली कंपनियों में संविलियन एवं नियमितिकरण करने की मुख्य मांग है। बिजली कर्मचारियों का कहना है कि अपनी मांगों को लेकर उनका प्रतिनिधि मंडल विगत ऊर्जा मंत्री से मिला था। इस दौरान मंत्री ने समस्या का निराकरण कर मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया था। बिजली कर्मचारियों का आरोप है कि मंत्री ने आश्वासन दिया लेकिन लिखित में कोई भी मांग अभी तक नहीं मानी। यदि उन्हें लिखित में मांगों को पूरा करने का आश्वासन मिलता तो कर्मचारी इतना बड़ा फैसला नहीं लेते।

मध्य प्रदेश विद्युत आउटसोर्स कर्मचारी संगठन जिलाध्यक्ष संयज राठौर ने सोमवार को विद्युत कंपनी कार्यालय सारंगपुर में अधिकारियों को ज्ञापन देते हुए कहाा कि अनिश्चितकालीन हड़ताल पर कर्मचारी मजबूरी में जा रहे हैं। उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यह हड़ताल तब तक जारी रहेगी तब तक उनकी मांगों को नहीं मान लिया जाता।

इन सेवाओं पर पड़ेगा असर

मप्रमक्षेविवि कंपनी के सारंगपुर सब डिवीजन के अंतर्गत बिजली कंपनी में करीब 50 बिजली आउटसोर्स कर्मचारी कार्यरत हैं। यह बिजली कंपनी से जुडे अलग-अलग कामों को पूरा करते हैं। बिजली का मेंटेनेंस हो या फिर दूसरे काम काज सभी में इनकी तैनाती है। ऐसे में इनकी हड़ताल से बिजली गुल हो सकती है। उपभोक्ताओं को इससे परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा राजस्व वसूली, मीटर रीडिंग, बिल वितरण, उपभोक्ता कंप्लेंट, नए कनेक्शन, लाइनों का मेंटेनेंस, फाल्ट फिटरो का सुधार के काम भी प्रभावित होगा। बिजली आउटसोर्स संगठन के जिला प्रभारी संतोष राजपूत ने बताया आउटसोर्स कर्मचारी ग्रीड, विद्युत वितरण केंद्र, जोन कार्यालय पर अपनी सेवाएं देने के साथ में मीटर रीडिंग, बिल वितरण व मेंटेनेंस तथा लाइन हेल्पर आदि का कार्य करते हैं, जिन्होंने सामूहिक कामबंद हड़ताल शुरू कर दी है। हम सभी कर्मचारी बिजली संबंधी सेवाएं नहीं देंगे। मांगें पूरी नहीं होने तक उनकी हड़ताल जारी रहेगी। इधर बिजली कंपनी अधिकारियों का कहना है कि बिजली सेवाएं तो प्रभावित हो लेकिन हम कोशिश करेंगे कि कंपनी के रेगुलर स्टॉफ और अतिरिक्त स्टॉफ लगाकर कार्य करवाए जाएंगे। शिकायतों को समय पर दूर करने का प्रयास किया जाएगा। रीडिंग भी समय पर की जाकर उपभोक्ताओं को बिल जारी किए जाएंगे।

इन्हे सौंपा कर्मचारियों ने ज्ञापन

मध्य प्रदेश विद्युत आउटसोर्स कर्मचारी संगठन ने सोमवार को मुख्यमंत्री, ऊर्जा मंत्री, ऊर्जा सचिव, कलेक्टर के नाम का ज्ञापन विद्युत कंपनी एई अरविंद रानोलिया, जेई मोहन मालवीय एवं हर्षिता राजूरकर को सौंपा। ज्ञापन सौंपने वालो में संतोष राजपूत, आकाश शर्मा, सुरेश कुमार, आकाश शर्मा दीपक ब्रजवासी, रवि पुष्पद, रवि विश्वकर्मा, मुकेश मालवीय, विष्णु लववंशी, लखन ब्रजवासी, जितेंद्र प्रजापति, कमल गुर्जर, कैलाश गुर्जर, अप्रित विश्वकर्मा, जवसिंह मालवीय, भूपेंद्र उमठ, धर्मेंद्र प्रजापति एवं संतोष राजूपत आदि शामिल थे।

हमारे संगठन के प्रदेशाध्यक्ष महोदय के निर्देशानुसार हमारे द्वारा यह ज्ञापन दिया गया है। ज्ञापन देकर हम राजगढ़ कलेक्टर के पास जा रहे है। ऊर्जा मंत्रीजी ने हमें नियमित करने का वादा किया था, जो पुरा नहीं हुआ है। कलेक्टर साहब एवं एसई साहब हमारी समस्या का निराकरण नहीं करते है तो हम हड़ताल पर चले जाएंगे।

संतोष राजपूत, जिला प्रभारी, कर्मचारी संगठन, राजगढ़।

मध्य प्रदेश विद्युत आउटसोर्स कर्मचारी संगठन के कर्मचारियों ने ज्ञापन सौंपकर हड़ताल पर जाने की बात की है। जो भी उच्चाधिकारियों के निर्देश होंगे उसके आधार पर हम कार्रवाई करेंगें।

मोहन मालवीय, जेई, मप्रमक्षेविविकं, सारंगपुर।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local