पचोर (नवदुनिया न्यूज)। स्थानीय रेलवे कालोनी पार बालक हायर सेकंडरी स्कूल के सामने स्थित शासकीय प्री मैट्रिक अनुसूचित जाति बालक छात्रावास का भवन इतना जीर्ण शीर्ण हो गया है कि उसमें अब सांप, बिच्छू जैसे जहरीले जीव-जंतु अपना आशियाना बनाने लगे हैं। छात्रावास अधीक्षक बृजमोहन शर्मा ने बताया कि उक्त भवन यूं तो 2011 से ही क्षतिग्रस्त है, लेकिन, 2013 में पूरी तरह क्षतिग्रस्त और अनुपयोगी होने के बाद से ही हम 50 सीटर छात्रावास को करीब में ही स्थित विमुक्त जाति छात्रावास की दूसरी मंजिल पर जैसे तैसे संचालित कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि बीते 9 से 10 वर्षों में हमने सभी विभागीय संबंधित अधिकारियों को पत्राचार कर कई बार अवगत कराया लेकिन अभी तक उसका कोई निराकरण नहीं हो पाया है। इस बाबत जब आदिम जाति कल्याण विभाग के जिला संयोजक कृष्णकांत शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि हमारा विभागीय स्तर पर उक्त कार्य संपादन हेतु कलेक्टर महोदय और विभागीय कमिश्नर महोदय से संपर्क कर उक्त भवन गिराकर नवीन भवन निर्माण हेतु लगातार प्रयास जारी है। पूर्णता क्षतिग्रस्त भवन को डिस्मेंटल करने हेतु पचोर सीएमओ को भी पत्र बहुत पहले जारी किया जा चुका है। मंगलवार को हमसे कोई भी पत्राचार की कापी प्राप्त कर सकता है। रविवार को भारतीय जनता पार्टी अजा मोर्चा के पूर्व जिला अध्यक्ष संदेश राजोरे, भाजपा मंडल उपाध्यक्ष मनीष यादव कर्नल, जिला कार्यकारिणी सदस्य मनीष यादव मन्नाू, पूर्व नगर भाजपा अध्यक्ष कमल सक्सेना ने उक्त भवन का निरीक्षण कर जिला अधिकारी, छात्रावास अधीक्षक से बात कर नवीन निर्माण में आ रही दिक्कतों के बारे में जानकारी प्राप्त की।

जिला अधिकारी आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा जब सीएमओ को लिखे गए पत्र के बारे में सीएमओ से पूछा गया तो सीएमओ पवन मिश्रा ने कहा कि दूसरे विभाग के भवन को गिराने का जिम्मा हम कैसे लें लें। हां अगर परिषद या नगर हित में कोई बात हो तो समझा जा सकता है। अभी कार्य भी बहुत पेंडिंग है। जून-जुलाई बाद ही इस बारे में कुछ कहा जा सकता है। अभी भवन गिरा कर उसका मलबा अन्यत्र डालने का खर्च कौन वहन करेगा। इस बाबत भाजपा नेताओं का कहना है कि सभी विभागों को आपस में समन्वय कर अनुसूचित जाति वर्ग के बालकों की समस्या अपना दम्भ परे हटाकर दूर करना चाहिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close